Home विदेश जो बाइडेन के बेड़े में शामिल होगा 2222 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से...

जो बाइडेन के बेड़े में शामिल होगा 2222 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से उड़ान भरने वाला सुपरसोनिक जेट

22
0

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के पास जल्द ही ऐसा विमान होगा, जो हवा से दोगुनी रफ्तार से उड़ान भर सकेगा। कैलिफोर्निया की एक कंपनी इस प्रोजेक्ट पर काम कर रही है और कंपनी ने अपने अत्याधुनिक विमान की कुछ फोटो भी जारी की हैं, जिसे अगले कुछ सालों में अमेरिकी एयरफोर्स को सौंप दिया जाएगा। सुपरसोनिक जेट का इस्तेमाल अमेरिकी राष्ट्रपति की यात्राओं के साथ-साथ कार्यकारी शाखा के विशिष्ठ मेहमानों के लिए किया जा सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार, कुछ समय पहले खबर आई थी कि कैलिफोर्निया की एक स्टार्ट-अप कंपनी अमेरिकी एयरफोर्स के साथ मिलकर एक सुपरसोनिक प्लेन का निर्माण कर रही है। इस स्टार्ट-अप का नाम एक्जोसोनिक है और इसने अपने लो-बूम सुपरसोनिक जेट से अमेरिकी सेना को काफी प्रभावित किया था, जिसके बाद पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति और कार्यकारी एयरलिफ्ट निदेशालय ने उसके साथ सुपरसोनिक प्लेन के निर्माण के लिए एक कॉन्ट्रेक्ट किया।

नई तकनीक का इस्तेमाल

इस सुपरसोनिक प्लेन की इनसाइड तस्वीरें वायरल हो रही हैं। एक्जोसोनिक के प्रिसिंपल एयरक्राफ्ट इंटीरियर डिजाइनर स्टेफनी चाहन ने कहा कि हम इस कॉन्सेप्ट के सहारे नई तकनीक प्लान करने जा रहे हैं, जो अब तक किसी कमर्शियल या बिजनेस प्लेन में नहीं देखी गई है। 31 सीटों वाले इस अत्याधुनिक विमान में लग्जरी लेदर, काम करने के लिए और आराम करने के लिए प्राइवेट सुइट्स का भी इंतजाम किया गया है।

मीटिंग रूम से लेकर बहुत कुछ

स्टेफनी ने बताया कि एक प्राइवेट सुइट में तीन यात्रियों के लिए एक मीटिंग रूम, वीडियो टेलीकॉन्फ्रेसिंग और प्रेस को एड्रेस करने की सुविधा होगी। इसमें दो बाथरूम भी होंगे, जबकि दूसरे प्राइवेट सुइट में आठ यात्रियों के लिए इंतजाम मौजूद रहेंगे। इस प्लेन को मॉर्डन एयरक्राफ्ट डिजाइन की तरह ही तैयार किया गया है और इस प्लेन की सीट पर पर्सनल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइज को होल्ड करने के लिए स्पेस होगा।

ज्यादा ध्वनि भी नहीं करेगा प्लेन

स्टेफनी का कहना है कि इस एयरक्राफ्ट का केबिन डिजाइन US एक्जक्यूटिव ब्रांच और उनके मिशन से प्रेरित है। प्लेन में बूम सॉफ्ट तकनीक का इस्तेमाल किया गया है, जो भविष्य है। यह तकनीक विमान को सुपरसोनिक स्पीड से उड़ान भरने देती है। उन्होंने बताया कि ये प्लेन ध्वनि की स्पीड से दोगुनी रफ्तार यानी लगभग 2222 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकेगा और वो भी बेहद कम आवाज के साथ।

‘यात्रा करने का सबसे बेहतर साधन’

वहीं, एक्जोसोनिक सीईओ नॉरिस टाय ने कहा कि लो-बूम सुपरसोनिक फ्लाइट भविष्य में यात्रा करने का सबसे बेहतरीन साधन बनने वाला है। ये हमारा भविष्य है। लो बूम के चलते यात्री सुपरसोनिक स्पीड पर यात्रा कर सकते हैं। सबसे ज्यादा ख़ास बात यह है कि ऐसे विमानों में किसी तरह का ध्वनि प्रदूषण भी नहीं होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here