पीएम सुनक के गार्डन में रखे मूर्ति पर हुआ विवाद, लोगों ने जताई आपत्ति

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp
  • ब्रिटेन सरकार द्वारा एक मूर्ति को महंगे दामों पर खरीदने और उसको प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के दस डाउनिंग स्ट्रीट गार्डन में भेजने पर विवाद हो गया है।
  • ब्रिटेन में अर्थव्यवस्था की स्थित खस्ता होने के बाद भी सरकारी खजाने से 13 लाख ब्रिटिश पाउंड की एक मूर्ति को खरीदा गया
    लंदन ।
    ब्रिटेन सरकार द्वारा एक मूर्ति को महंगे दामों पर खरीदने और उसको प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के दस डाउनिंग स्ट्रीट गार्डन में भेजने पर विवाद हो गया है। ब्रिटेन में अर्थव्यवस्था की स्थित खस्ता होने के बाद भी सरकारी खजाने से 13 लाख ब्रिटिश पाउंड की एक मूर्ति को खरीदा गया और उसको सुनक के गार्डेन में रखा गया है। इस कांस्य की मूर्ति को प्रसिद्ध मूर्तिकार Henry Spencer Moore ने बनाया है। ब्रिटिश अखबार द सन न्यूजपेपर के मुताबिक, साल 1980 में हेनरी मोरे द्वारा बनाए गए इस बैठी हुई महिला के लिए वर्किंग माडल को क्रिस्टी की नीलामी में बेची गई थी, जिसको पिछला माह सरकार ने करदाता के कर से सरकारी कला संग्रह द्वारा अधिग्रहण किया गया था। इस मूर्ति को ऐसे समय में अधिग्रहण किया गया है जब देश बढ़ती मुद्रास्फीति, बढ़ते घरेलू बिलों और सार्वजनिक वित्त पोषण में लागत में कटौती के उपायों से जूझ रहा है।
    डाउनिंग स्ट्रीट ने दी सफाई
    इस बारे में विशेषज्ञों ने अखबार को बताया, ‘यह मोरे की बैठी हुई महिलाओं की मूर्तियों के संग्रह का एक अच्छा नमूना और यह एक महत्वपूर्ण उदाहरण है। हालांकि देश में आर्थिक स्थिति को देखते हुए इसको सार्वजनिक धन का एक असाधारण उपयोग माना जा सकता है।’ हालांकि दस डाउनिंग स्ट्रीट ने इस पर अपनी ओर से सफाई देते हुए कहा कि आंशिक रूप से ढकी हुई मूर्ति को गुरुवार को पीएम के गार्डन में रखने के मामले में कोई राजनेता शामिल नहीं है। क्रिस्टी वेबसाइट के मुताबिक, यह मूर्ति मातृत्व और गर्भावस्था की एक मजबूत भावना बताती है।
    कई कलाकृतियां है मौजूद
    मालूम हो कि पिछले 40 सालों के दौरान दस डाउनिंग स्ट्रीट गार्डन में मोरे द्वारा बनाई हुई कोई न कोई मूर्ति को रखा ही जाता है। ब्रिटिश सरकार के Art Collection के पास उनके बनाए हुए करीब 14,000 से अधिक मूल्यवान कलाकृतियां मौजूद है।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News