Home विदेश भारत की हालत चिंताजनक फिर भी नहीं ली हमसे मदद: पाकिस्तान

भारत की हालत चिंताजनक फिर भी नहीं ली हमसे मदद: पाकिस्तान

19
0

भारत में विकट होती कोरोना वायरस की स्थिति पर एक बार फिर से पाकिस्तान ने चिंता जाहिर की है. हालांकि, पाकिस्तान ने इस बात को लेकर भी निराशा जाहिर की है कि भारत ने कोरोना संकट से निपटने में उसकी मदद नहीं ली. कोरोना की भयावह होती दूसरी लहर के बीच भारत ने अमेरिका, सऊदी अरब, यूएई, भूटान समेत कई देशों से मदद स्वीकार की है. यहां तक कि लद्दाख में तनाव होने के बावजूद भारत ने चीन से भी मदद ली. 

पाकिस्तान ने सोमवार को वैश्विक स्तर पर कोरोना से निपटने की जरूरत पर जोर दिया है. पाकिस्तान ने कहा है कि उसने मुश्किल की इस घड़ी में भारत की मदद की पेशकश की है लेकिन उसे अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत सरकार फिलहाल पाकिस्तान की मदद स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है.

संयुक्त राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य संगठन और रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति के साथ मीटिंग में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ये बातें कहीं. उन्होंने कहा है कि प्राथमिक चिंता मानवता है और कोरोना महामारी से वैश्विक स्तर पर निपटने की जरूरत है.  

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना संकट पर शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि भारत में स्थिति नाजुक है और पड़ोसी मुल्क होने के नाते पाकिस्तान इससे चिंतित है. इस चुनौतीपूर्ण हालात में पाकिस्तान ने भारत को मदद की पेशकश की है. लेकिन भारत की तरफ से अभी हमें कोई जवाब नहीं मिला है. 

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए वैश्विक स्तर पर प्रयास किए जाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी अपने देश में एक चुनौतीपूर्ण स्थिति के बावजूद भारत की मदद करने के लिए तैयार था.

संयुक्त राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य संगठन और रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति के साथ इस बैठक में पाकिस्तान के विदेश मंत्री कश्मीर राग अलापने से नहीं चुके. उन्होंने कहा कि कश्मीर में लोग कोरोना संकट का सामना कर रहे हैं. हम ऐतिहासिक और धार्मिक रूप से कश्मीरियों से गहरा जुड़ाव महसूस करते हैं. 

असल में, कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की संसदीय समिति ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र, WHO और रेड क्रॉस से मेडिकल कॉरिडोर बनाने की अपील की ताकि कश्मीर को चिकित्सकीय मदद मुहैया कराई जा सके. संसदीय समिति के चेयरमैन शहरयार खान ने भारत में बिगड़ी चिकित्सकीय स्थिति पर एक रिपोर्ट पेश की. उन्होंने रिपोर्ट में कश्मीर का भी जिक्र किया. शहरयार खान ने मानवीय आधार पर वैश्विक समुदाय से मदद करने का आह्वान किया.   

पिछले महीने पाकिस्तान ने भारत की मदद करने की पेशकश की थी. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय का कहना था कि कि वो भारत को वेंटिलेटर, डिजिटल एक्सरे मशीन और पीपीई किट समेत कई जरूरी सामानों को निर्यात करने के लिए तैयार है. 

वहीं पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने भी ट्वीट कर भारत में कोरोना को लेकर एकजुटता दिखाई थी. हालांकि भारत ने पाकिस्तान की मदद की पेशकश पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. भारतीय विदेश मंत्रालय के सूत्रों का कहना था कि पाकिस्तान से मदद लेने के बारे में अभी तक सोचा नहीं गया है. हालांकि यह तय बात है कि भारत, पाकिस्तान से मदद नहीं लेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here