Home विदेश ट्रक से पाकिस्तानी झंडा हटाने के आरोप में तालिबान ने चार सीमा...

ट्रक से पाकिस्तानी झंडा हटाने के आरोप में तालिबान ने चार सीमा रक्षकों को किया गिरफ्तार

20
0

तालिबान ने मदद का सामान लेकर अफगानिस्तान आ रहे एक ट्रक से पाकिस्तानी झंडा हटाने के आरोप में चार तालिबान सीमा रक्षकों को गिरफ्तार किया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबान सरकार को मान्यता देने के लिए पाकिस्तान की शर्ते बताई हैं।
तोरखम ।
तालिबान ने मदद का सामान लेकर अफगानिस्तान आ रहे एक ट्रक से पाकिस्तानी झंडा हटाने के आरोप में चार तालिबान सीमा रक्षकों को गिरफ्तार कर लिया। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने मंगलवार को कहा कि अफगानिस्तान में तोरखम सीमा पर मदद के सामाम लाए ट्रक से पाकिस्तानी झंडा हटाने के आरोप में चार तालिबान सीमा रक्षकों को गिरफ्तार किया गया है। मुजाहिद ने कहा कि तालिबान उस घटना की निंदा करता है जो हुई है और भविष्य में ऐसी घटनाओं को नियंत्रित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। जिस ट्रक से तालिबान के सीमा रक्षकों ने कथित तौर पर पाकिस्तानी झंडा हटाया था वह पाकिस्तान-अफगान सहयोग मंच द्वारा भेजी गई सहायता और राहत सामग्री ले जा रहा था। वीडियो फुटेज में घटना ने स्पष्ट रूप से दिखाया कि जैसे ही ट्रक ने अफगानिस्तान क्षेत्र में प्रवेश किया, जो 17 ट्रकों के राहत काफिले का हिस्सा था। तालिबान के सीमा रक्षकों ने ट्रक से पाकिस्तानी झंडा जबरन हटा दिया था। प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबान सरकार को मान्यता देने के लिए पाकिस्तान की शर्ते बताई हैं। इमरान खान ने पड़ोसी देश में नए नेतृत्व को समावेशी होने और मानवाधिकारों का सम्मान करने का आह्वान किया। ट्रक द्वारा की गई सहायता में 300 टन खाद्य पदार्थ-गेहूं का आटा, चावल और खाद्य तेल शामिल थे। साथ ही तोखम सीमा के पास एक औपचारिक समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें दोनों पक्षों के वरिष्ठों ने भाग लिया। मुजाहिद ने घटना पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि इस घटना से तालिबान का पूरा नेतृत्व नाराज है और इसमें शामिल लोगों से सख्ती से निपटा जाएगा। सोमवार को पाकिस्तान द्वारा भेजी गई सहायता ले जा रहे चार और ट्रकों पर पाकिस्तानी झंडा नहीं था। पाकिस्तान-अफगानिस्तान सहयोग मंच के एक पदाधिकारी ने कहा कि औपचारिक रूप से सौंपने के समारोह तक माहौल बहुत सही था। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने 17 सितंबर को बताया कि उनकी सरकार ने अफगानिस्तान में एक समावेशी सरकार बनाने के लिए तालिबान के साथ बातचीत शुरू कर दी है।

Previous articleअफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में विस्फोट, तालिबान के 2 लड़ाकों समेत तीन की मौत
Next articleकेवल 500 रुपये से खुलवा सकते हैं आप यह सेविंग अकाउंट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here