Home विदेश चीन ने कोरोना के चलते मुआवजे की ट्रंप की मांग को खारिज...

चीन ने कोरोना के चलते मुआवजे की ट्रंप की मांग को खारिज किया, पूर्व राष्‍ट्रपति ने वायरस के प्रसार लिए ड्रैगन को दोषी ठहराया

11
0

बीजिंग। चीन ने सोमवार को पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कोरोना से हुई मौत और तबाही के लिए अमेरिका और दुनिया को मुआवजे के तौर पर 10 ट्रिलियन डालर देने की मांग को खारिज कर दिया। इसने कहा कि जवाबदेही उन नेताओं की है, जिन्होंने लोगों के जीवन और स्वास्थ्य की अनदेखी की।
ट्रंप ने कोरोना को चीन वायरस और वुहान वायरस करार दिया था।

शनिवार को उत्तरी कैरोलिना में रिपब्लिकन पार्टी के सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कोरोना को चीन वायरस और वुहान वायरस करार दिया था। उन्होंने कहा था कि चीन को भारी मुआवजा देना चाहिए।

ट्रंप के बयान पर टिप्पणी करते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने यहां एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि ट्रंप के कार्यकाल के दौरान कोरोना के 2.4 करोड़ से अधिक मामले थे। मरने वालों की संख्या 4,10,000 से अधिक थी। वांग ने कहा, ट्रंप ने बार-बार तथ्यों को नजरअंदाज किया और महामारी से निपटने में विफल रहने की अपनी जिम्मेदारियों से बचने की कोशिश की।

चीन से मुआवजे की मांग करने का आह्वान किया था

बता दें कि ट्रंप ने एक बार फिर से चीन को कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार ठहराया है। ट्रंप ने दुनिया के सभी देशों से चीन से हर्जाना मांगने को कहा है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिका और सभी देशों से COVID-19 से हुए नुकसान के कारण चीन से मुआवजे की मांग करने का आह्वान किया।

नॉर्थ कैरोलिना रिपब्लिकन कन्वेंशन में बोलते हुए ट्रंप ने कहा था कि समय आ गया है कि अमेरिका और दुनिया के सभी देश चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से क्षतिपूर्ति और जवाबदेही की मांग करें। हम सभी को एक स्वर में घोषणा करनी चाहिए कि चीन को हमारे नुकसान भुगतान करना होगा। उन्हें भुगतान करना ही होगा।

दो अमेरिकी विशेषज्ञों ने चीन को ठहराया दोषी

हालांकि, कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर अभी भी कोई पुख्ता सबूत सामने नहीं आया है, लेकिन इस बीच अमेरिकी विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर एक बड़ा दावा किया है। इसमें यह सबूत दिया गया है कि Covid-19 के वुहान की लैब से निकलने की थ्योरी के पक्ष में कितना दम है।

मीडिया ने सोमवार को बताया कि दो अमेरिकी विशेषज्ञों ने अपने शोध में दावा किया है कि कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से लीक हुआ है। उन्होंने शोध में बताया है कि कोविड-19 के दुर्लभ जीनोम से पता चलता है कि कोरोना वायरस एक प्रयोगशाला में विकसित किया गया था ये कोई प्राकृतिक वायरस नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here