Home विदेश यूरेनियम जब्ती पर पाक के बाद अब चीन की भी भारत को...

यूरेनियम जब्ती पर पाक के बाद अब चीन की भी भारत को नसीहत

12
0

मुंबई में दो लोगों के पास से सात किलोग्राम यूरेनियम बरामद किए जाने के मामले में पाकिस्तान के बाद अब चीन ने प्रतिक्रिया दी है. मुंबई में यूरोनियम बरामद किए जाने पर चीन ने कहा है कि परमाणु आतंकवाद एक वास्तविक सुरक्षा चुनौती है जिसका सामना अंतरराष्ट्रीय समुदाय को करना पड़ता है. सरकारों के पास परमाणु सामग्री पर नियमन की प्रक्रिया, परमाणु तस्करी से निपटने और परमाणु सुरक्षा सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी है. 

फिलहाल, मुंबई में सात किलोग्राम यूरेनियम मिलने के मामले की जांच पड़ताल राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) कर रही है. पहले इस घटना की जांच मुंबई पुलिस की एसआईटी यूनिट कर रही थी. एक समाचार एजेंसी के मुताबिक, महाराष्ट्र पुलिस के एंटी-टेररिस्ट स्क्वॉड (एटीएस) ने 5 मई की रात में जिगर जीएस पांड्या और अबू ताहिर अफजल चौधरी नाम के दो लोगों को मुंबई के बाहरी इलाके से अरेस्ट किया किया था. 

एटीएस ने गिरफ्तार दोनों आरोपियों के पास से सात किलो 100 ग्राम प्राकृतिक यूरेनियम बरामद किया था. इसकी बाजार में कीमत 21 करोड़ रुपये बताई जा रही है. बताया जा रहा कि गिरफ्तार हुए दोनों लोग यूरोनियम को बेचने की कोशिश कर रहे थे. 

अब चीन ने भारत में खुलेआम यूरेनियम बरामद होने पर सवाल खड़े किए हैं. एसोसिएटेड प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि भारतीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, पिछले हफ्ते भारतीय अधिकारियों ने महाराष्ट्र से 7 किलोग्राम से अधिक रेडियोएक्टिव यूरेनियम जब्त किया था. उनकी गिरफ्तारी भी हुई जो अवैध रूप से यूरेनियम बेचने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन मुझे हैरानी हो रही है कि इस पर कोई टिप्पणी सामने नहीं आई है. 

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि परमाणु आतंकवाद एक वास्तविक सुरक्षा चुनौती है जिसका सामना अंतरराष्ट्रीय समुदाय को करना पड़ता है. सरकारों के पास परमाणु सामग्री पर नियमन की प्रक्रिया, परमाणु तस्करी से निपटने और परमाणु सुरक्षा सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी है. 

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा, ‘हम उन सभी देशों से आह्वान करते हैं जो परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) संधि के सदस्य नहीं हैं, वे इसमें शामिल हों… उन्होंने कहा, ‘परमाणु सुरक्षा बढ़ाने, प्रसार को रोकने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योगदान करने के लिए शांति और सुरक्षा आईएईए सुरक्षा उपायों के अधीन है.’ 

चीन से पहले पाकिस्तान ने भी मुंबई में यूरेनियम पाए जाने पर चिंता जाहिर की थी. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस मामले की पुख्ता जांच की मांग भी की थी. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हाफिज चौधरी ने कहा था कि परमाणु सामग्री की सुरक्षा सबसे जरूरी है और इसकी सही ढंग से जांच होनी चाहिए. 

जारी बयान में जाहिद हाफिज चौधरी ने कहा था, रिपोर्ट्स हैं कि भारत में अनाधिकृत लोगों के पास से सात किलो प्राकृतिक यूरेनियम बरामद हुआ है. यह बहुत ही चिंता की बात है. कोई भी देश हो, उसके लिए परमाणु सामग्री की सुरक्षा सबसे जरूरी होनी चाहिए. इस मामले की सही तरीके से जांच की जरूरी है.  

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय का कहना था कि परमाणु सामग्री की सुरक्षा को लेकर कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए. इसकी गहन जांच-पड़ताल होनी चाहिए कि आखिर इतनी मात्रा में गैर आधिकारिक रूप से यूरेनियम बाहर कैसे आया.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here