Home विदेश अमेरिका में हुए विमान हादसा में भारतवंशी डाक्टर समेत दो की मौत,...

अमेरिका में हुए विमान हादसा में भारतवंशी डाक्टर समेत दो की मौत, आस-पास मकानों में भी लगी आग

14
0

प्रशिक्षित पायलट भी थे हृदय रोग विशेषज्ञ सुगाता दास पुणे में हुआ था लालन-पालन। सैंटी में संताना हाई स्कूल के पास हुए हादसे के बाद आग लगने से दो मकान जलकर खाक हो गए। पांच अन्य मकानों व कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है।
न्यूयार्क ।
अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत में सोमवार को हुए विमान हादसे में भारतीय मूल के हृदय रोग विशेषज्ञ समेत दो लोगों की मौत हो गई। हादसे की वजह से पास के मकानों में आग लग गई, जिससे काफी नुकसान हुआ है। एरिजोना के युमा रीजनल मेडिकल सेंटर (वाईआरएमसी) के अनुसार, दुर्घटनाग्रस्त दो इंजन वाला सेसना सी 340 विमान संस्थान में कार्यरत डा. सुगाता दास का ही था। वह एक प्रशिक्षित पायलट भी थे। सीबीएस-एनबीसी से जुड़े टीवी स्टेशन ने बताया कि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि हादसे के वक्त दास विमान के पायलट थे अथवा नहीं। वाईआरएमसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी भरत मगू ने एक बयान में कहा, ‘हृदय रोग विशेषज्ञ सुगाता दास के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर से हम दुखी हैं। विमान सैंटी (कैलिफोर्निया) के पास दुर्घटनाग्रस्त हुआ। वह बेहतरीन हृदय रोग विशेषज्ञ व परिवार के प्रति समर्पित व्यक्ति थे।’ सैंटी में संताना हाई स्कूल के पास हुए हादसे के बाद आग लगने से दो मकान जलकर खाक हो गए। पांच अन्य मकानों व कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है। दमकलकर्मियों ने काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। हादसे में मारा गया अन्य व्यक्ति यूपीएस कर्मी था, जो घटना के समय जमीन पर काम कर रहा था। रिपोर्ट के अनुसार, दोपहर करीब 12.30 बजे अधिकारियों को ग्रीनकैसल स्ट्रीट के पास के क्षेत्र में विमान हादसे की सूचना मिली। संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) ने हादसे का समय 12.15 बजे बताया है। एफएए के अनुसार, ‘विमान में कितने लोग सवार थे, इसके बारे में अभी जानकारी नहीं है।’ सेसना सी 340 विमान में छह यात्री बैठ सकते हैं। संस्थान की वेबसाइट के अनुसार, बंगाली परिवार में जन्मे दास पुणे में पले-बढ़े। वह पावर आफ लव फाउंडेशन के निदेशक भी थे। यह एक अमेरिकी गैर लाभकारी संगठन है, जो विदेश में एड्स व एचआइवी से संक्रमित या प्रभावित महिलाओं व बच्चों की मदद करता है।

Previous articleआर्थिक संकट से जूझ रहे तालिबान का आरोप, अफगान संपत्ति को अनफ्रीज करने पर पश्चिमी देश चुप
Next articleचीन की यह कैसी चाल? ड्रैगन बोला- सैन्य अभ्यास ताइवान की रक्षा के लिए जरूरी थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here