Home विदेश बच गई पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी, नेशनल असेंबली में विश्वास...

बच गई पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी, नेशनल असेंबली में विश्वास मत किया हासिल

30
0

इस्लामाबाद । पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नेशनल असेंबली में विश्वास मत हासिल कर लिया। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सदन में प्रस्ताव पेश किया। 342 सदस्यों वाले सदन में सरकार के पक्ष में 178 वोट पड़े। बहुमत साबित करने के लिए 172 वोटों की जरूरत थी। पाकिस्तान में सीनेट चुनाव में वित्त मंत्री अब्दुल हफीज शेख की हार से इमरान खान की सरकार काफी किरकिरी हुई। इसके बाद ही इमरान नेशनल एसेंबली में बहुमत साबित करने का एलान किया। बता दें कि विपक्ष ने विश्वास मत प्रस्ताव पर मतदान के दौरान संसद का बहिष्कार किया विश्वास मत प्रस्ताव पेश होने से पहले इमरान खान ने अपने सांसदों को धमकी दी थी कि विश्वास मत प्रस्ताव पर मतदान के दौरान वे पार्टी लाइन को फॉलो करें या नतीजा भुगतने के लिए तैयार रहें। विश्वास मत के संबंध में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के सांसदों को लिखे एक पत्र में इमरान खान ने कहा कि विश्वास मत पर वोटिंग के दौरान पार्टी के निर्देशों के मुताबिक आपको वोट डालने हैं। अगर कोई नेता वोटिंग में शामिल नहीं हुआ या पार्टी के निर्देश के खिलाफ वोट दिया, तो पार्टी उसे डिफेक्टेड करार दे सकती है और इसकी सूचना चुनाव को दे दी जाएगी। इससे पहले उन्होंने कहा कि वो वोटिंग में जो भी फैसला होगा वह उसका सम्मान करेंगे। अगर वे इसमें हार गए तो, वे विपक्ष में बैठने के लिए तैयार हैं। 342 सदस्यों वाली नेशनल असेंबली में सत्तारूढ़ गठबंधन के 181 सदस्य थे, लेकिन सांसद फैसल वोडा के इस्तीफे के बाद यह संख्या 180 हो गई। सदन में विपक्ष के पास 160 सदस्य हैं। एक सीट खाली थी। सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के नेशनल एसेंबली में 157 सदस्य थे, लेकिन वोडा के इस्तीफे के बाद, अब सदन में उसके 156 सदस्य हैं। सत्तारूढ़ पार्टी ने कहा था कि विश्वास प्रस्ताव के दौरान वोडा मतदान कर सकते हैं, क्योंकि उनका इस्तीफा अभी तक स्वीकार नहीं किया गया है। हालांकि, विपक्ष ने जोर देकर कहा कि वह वोट नहीं दे सकता क्योंकि उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया है। विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के पास क्रमश: 84 और 54 सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here