Home » गर्मी कम लगने के बावजूद पसीना निकलता रहता है तो हो सकते हैं इन बीमारियों के लक्षण

गर्मी कम लगने के बावजूद पसीना निकलता रहता है तो हो सकते हैं इन बीमारियों के लक्षण

गर्मी का मौसम है तो पसीना निकलना नेचुरल है। लेकिन गर्मी ज्यादा नहीं है और दूसरे लोगों को पसीना नहीं निकल रहा और आप बिना फिजिकल एक्टीविटी के पूरी तरह से पसीने से भीगे हैं। तो ये किसी बीमारी का संकेत हो सकते हैं। आमतौर पर पसीना सेहत के लिहाज से अच्छा होता है क्योंकि ये शरीर के टॉक्सिंस को बाहर निकालने में हेल्प करता है। लेकिन जब जरूरत से ज्यादा पसीना निकलने लगे तो जरूरत है कि अपनी हेल्थ पर ध्यान दिया जाए।
बहुत ज्यादा पसीना आने का कारण
शरीर में बहुत ज्यादा पसीना आने को हाइपरहाइड्रोसिस कहते हैं। ये दो तरह के होते हैं। सेकेंडरी हाइपरहाइड्रोसिस एक तरह की मेडिकल कंडीशन होती है। जिसमे हाथ-पैरों के अलावा पूरे शरीर से पसीना निकलता है। ऐसा कुछ खास बीमारियों की वजह से होता है। जिन्हें समय पर कंट्रोल ना करना कई बार घातक साबित हो जाता है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के अनुसार हाइड्रोसिस की वजह से सोते वक्त भी पसीना निकलता है और ये समस्या अधिकतर एडल्ड लोगों को होती है।
दिखते हैं ये लक्षण
लगातार और बहुत ज्यादा मात्रा में शरीर से पसीना निकलना
हार्टबीट का तेज हो जाना
हाथ कांपना
नर्वसनेस और तनाव महसूस होना
वजन का अचानक से घटना
बेहोशी आना
जरूरत से ज्यादा पसीना आने के ये कारण होते हैं जिम्मेदार
डॉक्टर्स के अनुसार शरीर में ज्यादा पसीना आने के कई कारण जिम्मेदार होते हैं।
महिलाओं में मेनोपॉज
महिलाओं में ज्यादातर शरीर से पसीना ज्यादा निकलने का कारण मेनोपॉज होता है। मेनोपॉज की वजह से लगभग 85 प्रतिशत महिलाओं में हॉट फ्लैशेज और पसीना निकलने की समस्या होती है। इसका कारण है एस्ट्रोजन हार्मोंस। जिसकी वजह से शरीर से ज्यादा पसीना निकलना शुरू हो जाता है।
डायबिटीज
डायबिटीज के मरीजों में ज्यादा मात्रा में पसीना निकलना ब्लड शुगर लो होने का संकेत होता है। अगर किसी डायबिटीज के मरीज को पसीना ज्यादा मात्रा में निकल रहा है तो फौरन उसके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने की जरूरत होती है।
हाइपरथायराइड
हाइपरथायराइड होने पर थायराइड ग्लैंड ज्यादा एक्टिव हो जाती है। जिसकी वजह से ज्यादा पसीना निकलने लगता है। अगर आपको अचानक से ज्यादा पसीना निकलने की शिकायत हो रही है और साथ में हार्ट बीट बढ़ जाती है और तनाव, नर्वसनेस महसूस होती है तो थायराइड का टेस्ट जरूर करवाएं।
कैंसर
कैंसर के कुछ टाइप बोन कैंसर, लीवर कैंसर, लिम्फोमा में भी जरूरत से ज्यादा पसीना निकलना शुरू हो जाता है। यहां तकि कैंसर के ट्रीटमेंट की वजह से भी कई बार ज्यादा पसीना निकलने लगता है।
क्या है उपाय
जरूरत से ज्यादा पसीना होने पर शरीर में पानी की कमी ना होने दें। ढेर सारा पानी पिएं और लिक्विड इनटेक को बढ़ा दें। नींबू और नमक का घोल बॉडी में इलेक्टोलाइट्स को बैलेंस करता है। इसके साथ ही इन बीमारियों का भी पता लगाएं। जिससे कि समय रहते बीमारी को कंट्रोल किया जा सके।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd