Home मनोरंजन कोरोना के बीच रिया चक्रवर्ती ने बढ़ाया मदद का हाथ, पोस्ट साझा...

कोरोना के बीच रिया चक्रवर्ती ने बढ़ाया मदद का हाथ, पोस्ट साझा कर दी अहम जानकारी

105
0

रिया चक्रवर्ती ने पोस्ट में लिखा- ‘कठ‍िन समय एकता को पुकारता है, हर उस व्यक्त‍ि की मदद करें जिन्हें सहायता चाह‍िए…छोटी हो या बड़ी मदद…मदद मदद होती है…मुझे DM करें अगर मैं आपकी किसी तरह से मदद कर सकती हूं. मैं अपनी ओर से पूरी कोश‍िश करूंगी, ख्याल रखें, दया भाव रखें, प्यार और ताकत…रिया’.  

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में जेल से छूटने के कई महीनों बाद रिया चक्रवर्ती की जिंदगी वापस पटरी पर आने लगी है. काफी समय तक सामाज‍िक तौर पर लोगों से कटे रहने के बाद अब पैन्डेम‍िक की इस मुश्क‍िल घड़ी में रिया ने सकारात्मक और बड़ी पहल की है. उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर पोस्ट शेयर कर जरूरतमंदों को उनसे संपर्क करने को कहा है.  इसी के साथ ऑक्सीजन की कमी से जूझ़ रहे लोगों के लिए भी अहम जानकारी साझा की है. 

रिया चक्रवर्ती ने पोस्ट में लिखा- ‘कठ‍िन समय एकता को पुकारता है, हर उस व्यक्त‍ि की मदद करें जिन्हें सहायता चाह‍िए…छोटी हो या बड़ी मदद…मदद मदद होती है…मुझे DM करें अगर मैं आपकी किसी तरह से मदद कर सकती हूं. मैं अपनी ओर से पूरी कोश‍िश करूंगी, ख्याल रखें, दया भाव रखें, प्यार और ताकत…रिया’. 

ऑक्सीजन की किल्लत पर दी ये जानकारी 

इंस्टा स्टोरी की अपनी दूसरी पोस्ट में उन्होंने ऑक्सीजन सप्लाई से जुड़ी अहम जानकारी दी है. उन्होंने पुणे के सतारा और मुंबई बेल्ट के अस्पतालों के लिए एक इन-हाउस ऑक्सीजन प्रोडक्शन प्लांट MTC ग्रुप द्वारा दिए जा रहे ऑक्सीजन सप्लाई के बारे में बताया है. पोस्ट में उन्होंने MTC ग्रुप द्वारा मदद के लिए जारी किए गए अपने बयान को शेयर किया है. 

जब जेल में र‍िया को काटना पड़ा समय  

मालूम हो कि रिया चक्रवर्ती के लिए साल 2020 बेहद मुश्क‍िल रहा. सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड मामले में उन्हें ड्रग्स एंगल में गिरफ्तार किया गया था. लगभग एक महीने सलाखों के पीछे वक्त काटने के बाद उन्हें जमानत पर छोड़ा गया. इसके बाद वे बांद्रा में नया घर ढूंढते हुए पहली बार स्पॅट की गईं. बाद में फिल्म चेहरे में उनकी कुछ सेकेंड की झलक से रिया के कमबैक का पता चला. रिया ने सोशल मीड‍िया और पब्ल‍िक अपीयरेंस से काफी समय तक दूरी बनाए रखी. अब धीरे-धीरे वे नॉर्मल जिंदगी में लौटती नजर आ रही हैं. 

Previous articleभारतीय सेना जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट करेगी इंपोर्ट, दूर होगी किल्लत
Next articleहाई कोर्ट की दो टूक- दिल्ली के अस्पतालों को ऑक्सीजन के साथ सुरक्षा भी दी जाए, पढ़ें सुनवाई के अपडेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here