Home » दिल दियां गल्लां के कलाकारों ने किया परिवारों को प्यार और संचार के बीज बोने के लिए प्रोत्साहित

दिल दियां गल्लां के कलाकारों ने किया परिवारों को प्यार और संचार के बीज बोने के लिए प्रोत्साहित

बैसाखी प्रियजनों के साथ कहानियों, हंसी-खुशी और प्यार साझा करने, मतभेदों को दूर करने और कृतज्ञता व स्नेह व्यक्त करने का समय है। यह सिर्फ एक परंपरा नहीं है, बल्कि एक भावना है, एक एहसास है जो हर किसी को प्यार और खुशी के बंधन में बांधता है। जैसा कि हम बैसाखी के शुभ अवसर का जश्न मना रहे हैं, सोनी सब पर दिल दियां गल्लां का उद्देश्य प्यार और आशा का संदेश फैलाना है। हम एक नया साल शुरू कर रहे हैं, यह शो दर्शकों को स्नेह और सहानुभूति के साथ अपने पारिवारिक रिश्तों को संजोने के लिए प्रोत्साहित करता है। पंकज बेरी, संदीप बसवाना, कावेरी प्रियम और पारस अरोड़ा सहित कलाकारों की टीम ने त्योहार मनाने की अपनी यादों को साझा किया और बताया कि कैसे दिल दियां गल्लां ने पारिवारिक रिश्तों की गतिशीलता को खूबसूरती से चित्रित किया है। दिल दियां गल्लां के कलाकारों ने सेट पर त्योहार के लिए एक भव्य उत्सव मनाया। यह उत्सव पारंपरिक पंजाबी संस्कृति और आधुनिक मनोरंजन का एक आदर्श मिश्रण था, जिसमें कलाकारों ने ढोल की थाप पर थिरकते हुए और ऊर्जावान भांगड़ा धुनों पर नृत्य किया। उनकी ऊर्जा और उत्साह संक्रामक थे। दिल दियां गल्लां के कलाकारों ने भी विभिन्न खेलों और गतिविधियों में भाग लिया, जिससे उत्सव का मज़ा और उत्साह बढ़ गया। उत्सव का मुख्य आकर्षण सेट पर परोसे गए स्वादिष्ट पंजाबी व्यंजन थे।
दिल दियां गल्लां में अमृता का किरदार निभाने वाली कावेरी प्रियम ने कहा,
“दिल दियां गल्लां में अमृता का चरित्र निभाने से मुझे पंजाबी संस्कृति और परंपराओं के बारे में गहरी समझ मिली है और निश्चित ही मैं इसका बेहद सम्मान करती हूं। लोहड़ी और अब बैसाखी जैसे त्योहारों को ऑन-स्क्रीन परिवार के साथ मनाना अविश्वसनीय अनुभव रहा है। एक ऐसे शो का हिस्सा बनना जो प्यार और उम्मीद फैलाता है और साथ ही दर्शकों को प्यार और करुणा के साथ पारिवारिक रिश्तों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करता है, बहुत बड़ी खुशी की बात है। बैसाखी के इस शुभ अवसर पर, मैं सभी से अपने प्रियजनों के साथ जुटने और अपने संबंधों का सम्मान करने का आग्रह करती हूं। आइए जीवन के उतार-चढ़ाव में एक-दूसरे का समर्थन करने का संकल्प लें और फसल की कटाई और नए साल की शुरुआत का जश्न मनाएं। इस बैसाखी को परिवारों को एक साथ आने, पिछली शिकायतों को माफ करने और इस पल का आनंद लेने के लिए एक समय के रूप में लें।”
दिल दियां गल्लां में वीर का किरदार निभाने वाले पारस अरोड़ा ने कहा,
“बैसाखी के साथ सिख नव वर्ष की शुरुआत के साथ मैं सभी की समृद्धि और कल्याण के लिए प्रार्थना कर रहा हूं। दिल दियां गल्लां के साथ, हम प्यार और आशा का संदेश फैलाना जारी रखते हैं, और बैसाखी के शुभ अवसर पर हम एक नया साल शुरू कर रहे हैं इसलिए मैं अपने दर्शकों को प्यार और करुणा के साथ पारिवारिक रिश्तों को संजोने के लिए प्रोत्साहित कर रहा हूं। बैसाखी मुझे भक्ति और आध्यात्मिकता की भावना से भर देती है। मेरा मूड अच्छा कर देती है। इसके अलावा, मैं दिल दियां गल्लां के माध्यम से इस त्योहार को अपने सह-कलाकारों और क्रू के साथ मनाने को लेकर रोमांचित हूं। मेरे प्रशंसकों और शुभचिंतकों को बैसाखी की हार्दिक शुभकामनाएं!”
दिल दियां गल्लां में दिलप्रीत का किरदार निभाने वाले पंकज बेरी ने कहा,
“बैसाखी के इस शुभ अवसर पर आइए हम फसल कटाई के मौसम, भाईचारे और एकता की भावना को संजोएं। त्योहार सभी के लिए समृद्धि, खुशी और सफलता लाए। मुझे आज भी याद है कि किस तरह बचपन में मैं अपने पूरे परिवार के साथ बैसाखी मनाता था और व्यंजनों का आनंद लेता था। मुझे इस शो का हिस्सा बनने पर गर्व है, जो दिखाता है कि आप अपने प्रियजनों के लिए प्यार और आशा कैसे फैला सकते हैं। एक गर्वित पंजाबी के रूप में मैं सभी से उत्साह और जोश के साथ बैसाखी मनाने का आग्रह करता हूं। दुनिया में प्यार और सकारात्मकता फैलाएं। आइए हम अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का सम्मान करने और शांति और सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए एकजुट हों।”
दिल दियां गल्लां में मनदीप का किरदार निभाने वाले संदीप बासवाना ने कहा,
“हम बैसाखी का आनंदमय त्योहार मना रहे हैं तो आइए हम इस नई शुरुआत और नवीनीकरण की भावना को अपनाएं। यह त्योहार हमें बेहतर कल के लिए प्रयास करने और हमारे जीवन में सद्भाव और सद्भावना पैदा करने के लिए प्रेरित करेगा। हम फसल की कटाई के मौसम का जश्न मनाते हैं, तो आइए हम अपने जीवन में परिवार, दोस्तों और समुदाय के महत्व को भी याद रखें। यह त्योहार मुझे हरियाणा में मेरे घर की याद दिलाता है, जहां साल के इस समय मेरे सभी चचेरे भाई हमारे यहां आते थे और हम दिन-रात अंतहीन मस्ती करते थे। तभी सब अपने मतभेद भुलाकर एक-दूसरे के साथ बैठते और त्योहार की अपनी यादों के बारे में बात करते। इस साल मैं मुंबई में अपने परिवार के साथ रहूंगा, इसलिए मैं इसे अपने दिल दियां गल्लां परिवार के साथ मनाऊंगा। सभी को खुश और समृद्ध बैसाखी की शुभकामनाएं!”

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd