Home मनोरंजन सोनी सब के ‘जीजाजी छत पर कोई है’ के शुभाशीष झा उर्फ़...

सोनी सब के ‘जीजाजी छत पर कोई है’ के शुभाशीष झा उर्फ़ जीजाजी ने कहा “जीजाजी के साथ मुझे लीग से हटकर कुछ करने की पूरी आजादी है”

33
0
  1. सोनी सब के साथ पहली बार जुड़कर कैसा महसूस हो रहा है?
    ये एक बहुत अच्छा एहसास है। मैं एक लम्बे समय से अपने परिवार के साथ सोनी सब देख रहा हूं। 2008 में जब “तारक मेहता का उल्टा चश्मा” लॉन्च हुआ था, तो हमारे परिवार में ये एक रीत बन गई थी कि हम सब कॉमेडी शो देखते हुए शाम को आराम करते थे और कॉमेडी की दुनिया में खो जाते थे। मैं खुद को बहुत भाग्यशाली मानता हूं कि मैं सोनी सब की टीम का उनकी लोकप्रिय सीरीज़ में जीजाजी के रूप में हिस्सा बना हूं।
  2. यह आपका पहला कॉमेडी शो है, इसका हिस्सा बनकर कैसा महसूस कर रहे हैं?
    मैं इस शो को लेकर बहुत ज़्यादा उत्साहित हूं क्योंकि ये एक बहुत ही अच्छा अवसर है और ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है कि आपको एक ऐसा शो करने का मौका मिले जिसमें कॉमेडी और रहस्य दोनों शामिल हैं। यह पहली बार है जब मैं कॉमेडी जोनर में काम कर रहा हूं और एक कलाकार के रूप में मेरे लिए यह सीखने का अनुभव है। एक व्यक्ति जब कॉमेडी करता है तो उसके साथ बहुत सारी ज़िम्मेदारियां भी आती हैं। उस समय व्यक्ति को उन पलों और स्थितियों पर तुरंत ही अपनी प्रतिक्रिया देनी होती है। इस शो की जो सबसे बड़ी खासियत है वो ये है कि यह मुझे एक अभिनेता के रूप में विकसित कर रहा है। इसी के साथ मुझे एक उम्दा अभिनेता बनने के रास्ते पर ले जा रहा है।
  3. यह एक बिलकुल नया कॉन्सेएप्ट है क्योंकि इसमें कॉमेडी और रहस्य दोनों मिक्स है। इस पर आपका क्या कहना है?
    मुझे लगता है कि जब भी मैं नर्वस होता हूं या मुझे घबराहट होती है, तो मैं खुद को शांत करने के लिए एक मज़ेदार आदमी बन जाता हूं। इसलिए, मेरा मानना है कॉमेडी बहुत सुकून देती है लेकिन जब एक रहस्य या फिर एक डरावना तत्व इससे जुड़ जाता है, तो यह दर्शकों को उनकी कुर्सी से हिलने नहीं देता और मनोरंजन को एक नए स्तर पर ले जाता है। एक दर्शक के रूप में आपको एक ही समय में हंसी और साजिश का अनुभव होगा।
  4. हमें अपने किरदार के बारे में कुछ बताइए?
    मुझे मेरे किरदार जीतेन्द्र जामवंत जिंदल उर्फ़ “जीजाजी से बहुत प्यार है और लोग उन्हें प्यार से जीतू भी बुलाते हैं।” मैं असल ज़िंदगी में अपने जीजाजी के किरदार से बिलकुल अलग हूं। जीजाजी एक मुंहफट किरदार है जो अपने मन की बात बोलने से बिलकुल नहीं हिचकिचाते और वह किसी को कुछ भी बोलने से पहले दो बार नहीं सोचते। वह अपने परिवार से बहुत प्यार करते हैं और उनका एकमात्र मकसद सिर्फ अपने पुरखों की सम्पत्ति को अपने पास रखना है और सीपी के खिलाफ मुकदमा जीतना है। इस किरदार के साथ, जो चीजें मैं अपने वास्तविक जीवन में नहीं कर सकता वो मुझे जीजाजी की वजह से करने का अवसर मिला है। जीजाजी का किरदार मुझे पूरा करता है। मुझे बोलने और कई चीज़े करने की पूरी स्वतंत्रता है और अपने कम्फर्ट ज़ोन से बाहर जाकर कुछ भी करने के लिए मैं बिलकुल स्वतंत्र हूं।
  5. सोनी सब पर जीजाजी एक विरासत है। उसमें आपका किरदार कैसे अलग होगा?
    यह एक बिलकुल अलग कहानी है और इसके किरदार बिलकुल अलग हैं। शो में मेरा किरदार बहुत ही बड़बोला है, जिसे लोग अपनी वास्तविक ज़िंदगी में बिलकुल नहीं झेल सकते। लोग बोलने से पहले बहुत बार सोचते हैं, ताकि किसी को बुरा न लगे और हमेशा वही सोचते हैं कि क्या कहना सही होगा। लेकिन ये किरदार अपनी ही दुनिया में जीता है और खुद का बहुत सम्मान करता है। यह एक आत्मविश्वासी किरदार है जो कि भ्रमित है लेकिन तारीफ के काबिल है। जीजाजी खुद को बहुत पसंद करते हैं और खुद को बहुत महत्व देते है जिसे शो में हाज़िरजवाबी के रूप में दर्शाया गया है।
  6. इस भूमिका के लिए आपने किस तरह की तैयारियां की हैं?
    जीतू का किरदार पंजाबी बाग में रहता है, जोकि पुरानी दिल्ली में हैं। मैंने मेरे निर्देशक शशांक बाली के मार्गदर्शन के साथ इस पर बहुत रिसर्च की। मैंने पुरानी दिल्ली की बहुत सारी वीडियो देखी और उस शहर के बारे में सीखा और समझा। जो लोग यहां पर रहते हैं वो “करख़नदारी जुबां” का इस्तेमाल करते हैं। इसलिए मैंने ये बोली सीखी। मैंने कुछ पुरानी फ़िल्में जैसे चांदनी चौक भी देखी और उसे समझा और अपनी टोन पर काम किया। सीन पढ़ने के बाद, मैं मेरे किरदार की विभिन्न विशेषताओं से परिचित हो गया। मैंने सीख लिया कि एक विशेष स्थिति पर मेरा किरदार कैसी प्रतिक्रिया देगा, यह किरदार अपने परिवार के साथ किस तरह का बॉन्ड शेयर करता है और इसकी सीपी-जो उसका अंतिम दुश्मन है उसके साथ उसकी किस तरह की नोंक-झोंक होती है, और मैं इन किरदारों को मेरी ज़िंदगी की घटनाओं से जोड़ रहा हूं और धीरे-धीरे इसका अनुभव कर रहा हूं और मुझे लगता है कि अब यह किरदार मेरे दिमाग में आकार लेने लगा है।
  7. आपका हिबा के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
    हिबा के साथ काम करने का अनुभव बहुत ही अच्छा रहा है। हिबा पहले भी कई कॉमेडी शोज़ का हिस्सा रह चुकी हैं। वह कॉमेडी की दुनिया में पहले से ही पूरी तरह प्रोफेशनल है। वह बहुत ही सहज हैं और खुद को बहुत अच्छे से व्यक्त करती हैं। हालांकि, हमने एक-दूसरे के साथ लम्बे समय तक शूटिंग नहीं कि, लेकिन हमारे बीच कम्फर्ट और समझ है, जो हमारे सीन्स को बेहतर बनाने में मदद करती है और मुझे मेरा सबसे बेहतरीन देने में मदद करती है।
  8. आपके फैंस के लिए कोई मैसेज?

मैं अपने प्रशंसकों से और दर्शकों से सिर्फ यही आग्रह करना चाहूंगा कि वो हमारा इस नए सफर में सहयोग करें क्योंकि हम उनका पसंदीदा शो एक नए अंदाज़ में फिर से लेकर आ रहे हैं। मुझे यकीन है, मनोरंजन और कॉमेडी से भरपूर ‘जीजा जी छत पर कोई है’ एक नई और अलग पहचान बनाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here