Home बिजनेस कोरोना के चलते चौथी तिमाही में कंपनी को 7,605 करोड़ रुपए का...

कोरोना के चलते चौथी तिमाही में कंपनी को 7,605 करोड़ रुपए का घाटा, सप्लाई में दिक्कतों और ग्लोबल चिप शॉर्टेज का बुरा असर पड़ा

34
0

ऑटो सेक्टर की दिग्गज कंपनी टाटा मोटर्स ने चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। कंपनी को जनवरी से मार्च के दौरान 7,605 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। इसकी मुख्य वजह जगुआर लैड रोवर (JLR) से संबंधित भारी राइट ऑफ है, जिससे कंपनी का घाटा अनुमान से ज्यादा रहा।

इसी तरह पिछले साल भी JLR की संपत्ति के राइट ऑफ से कंपनी को 9,894 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। जगुआर का राइट आफ इसलिए हुआ क्योंकि इसने उसके मॉडल को कैंसल कर दिया था। लग्जरी कार कंपनी को कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के कारण कई अहम बाजारों में नुकसान हुआ है।

हालांकि, मार्च तिमाही में कंपनी को स्टैंडअलोन 1,646 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ है। जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी को 4,871 करोड़ रुपए का लॉस हुआ था। मार्च तिमाही में ऑटो कंपनी को कामकाज से 88,628 करोड़ रुपए की आमदनी हुई, जो पिछले साल की समान तिमाही के मुकाबले 41.7% ज्यादा है। तब कंपनी की आमदनी 62,492 करोड़ रुपए थी। टाटा मोटर्स का ऑपरेटिंग प्रॉफिट यानी एबीटा 1,27,000 करोड़ रुपए रहा।

फाइनेंशियल इयर 2020-21 के दौरान टाटा मोटर्स का कंसोलिडेटेड नेट लॉस 13,395.10 करोड़ रुपए रहा। सालभर यानी 2019-19 के दौरान कंपनी को 11,975 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। वहीं, 2020-21 में टोटल इनकम 2,52,437.94 करोड़ रुपए रहा, जो पिछले साल 2,64,041 रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here