शेयर बाजार : 300 के करीब पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी में भी तेजी

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली। शेयर बाजार में आज सप्ताह के पहले दिन बढ़त रही। दिन भर के कारोबार के बाद बाजार हरे निशान पर बंद होने में कामयाब रहा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 295.93 अंक यानी 0.52 फीसदी की बढ़त के साथ 57,420.24 पर बंद हुआ, वहीं NSE का निफ़्टी 82.50 अंक यानी 0.49 फीसदी की तेजी के साथ 17,086.25 पर बंद हुआ।

आज इन शेयरों में रही तेजी

BSE पर आज अधिक टेक महिंद्रा का भागा है। कंपनी के शेयर में 3.44% की उछाल नजर आया। इसके बाद डॉक्टर रेड्डी, पावर ग्रिड, कोटक बैंक, सनफार्मा, ICICI बैंक, महिंद्रा एन्ड महिंद्रा, HDFC, पावर फिनसर्व, टाइटन, टाटा स्टील, NTPC, नेस्ले इंडिया, एलटी, SBI, अल्ट्रा सीमेंट के शेयरों में तेजी रही। वही आज गिरावट वाले शेयरों में इंडसइंड बैंक, मारुती, एशियन पेण्ट, भारती एयरटेल, ITC और रिलायंस के शेयर्स रहे।

घरेलू शेयर बाजर की शुरुआत साल के अंतिम सप्ताह के पहले कारोबारी दिवस सोमवार को गिरावट के साथ हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 175.98 अंकों के नुकसान के साथ 56968 के स्तर पर खुला। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने 16937 के स्तर से आज के दिन के कारोबार की शुरुआत की। बीते सप्ताह बीएसई सेंसेक्स 112.57 अंक या 0.10 फीसदी चढ़ा।

शुरुआती कारोबार में ही सेंसेक्स 422.83 प्वांइट लुढ़ककर 56,701.48 के स्तर पर आ गया, वहीं, निफ्टी 128.40 अंक टूटकर 16,875.35 के स्तर पर था। इस दौरान निफ्टी टॉप लूजर में इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, श्रीसीमेंट, एक्सिस बैंक जैसे स्टाक थे तो गिरावट के बीच सिप्ला, पावर ग्रिड, सन फार्मा, एचसीएल टेक और दिविस लैब टॉप गेनर में थे।

इस सप्ताह कैसी रहेगी बाजार की चाल

सैमको सिक्योरिटीज की इक्विटी शोध प्रमुख येशा शाह के मुताबिक, ”ओमीक्रॉन को लेकर आशंकाओं तथा मासिक सौदों के पूरा होने के चलते बाजार में अस्थिरता बनी रहेगी। रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के उपाध्यक्ष (शोध) अजीत मिश्रा का अनुमान है कि बाजार की नजर कोविड के हालात पर है और कोई भी सकारात्मक खबर बाजार को थोड़ी मजबूती दे सकती है, वरना अस्थिरता जारी रहेगी।

विदेशी निवेशकों का रुख, रुपये की चाल और कच्चे तेल का भाव भी बाजार के लिए महत्वपूर्ण होंगे। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, हालांकि, राहत के रूप में आई तेजी कुछ और समय तक जारी रह सकती है, लेकिन ओमीक्रोन वेरिएंट और नाजुक वैश्विक संकेतों के कारण अस्थिरता से इंकार नहीं किया जा सकता है।”

अगले साल पोर्टफोलियो विस्तार पर रहेगा टाटा, महिंद्रा का जोर

घरेलू वाहन विनिर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा और टाटा मोटर्स हाल में अपने नए वाहनों को मिली कामयाबी से उत्साहित होकर वर्ष 2022 में अपना पोर्टफोलियो और मजबूत करने की रणनीति पर काम कर रही हैं।

दोनों ही भारतीय वाहन कंपनियां सेमीकंडक्टर की किल्लत से इस तरह निपटना चाहती हैं कि उनके वाहन उत्पादन पर इसका असर कम-से-कम पड़े। महिंद्रा एंड महिंद्रा के कार्यकारी निदेशक (ऑटो एवं कृषि क्षेत्र) राजेश जेजुरिकर ने पीटीआई-भाषा के साथ बातचीत में कहा कि वह स्पोर्ट्स यूटिलिटी वेहिकल (एसयूवी) वर्ग में पहले नंबर की कंपनी बनना चाहते हैं और नए वाहनों को मिली कामयाबी इसका संकेत भी दे रही है।

टाटा मोटर्स के अध्यक्ष (यात्री वाहन कारोबार) शैलेश चंद्रा कहते हैं, हम हालात पर करीबी निगाह रखे हुए हैं और अल्पकाल में इससे निपटने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि टाटा मोटर्स आपूर्ति बाधाओं से निपटने के लिए बहुआयामी कदम उठा रही है।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent News

Related News