Home बिजनेस सेंसेक्‍स-निफ्टी फिर कमजोरी के साथ बंद, ज्‍यादातर शेयरों में आई गिरावट

सेंसेक्‍स-निफ्टी फिर कमजोरी के साथ बंद, ज्‍यादातर शेयरों में आई गिरावट

15
0


नई दिल्‍ली। शेयर बाजार में बुधवार को कारोबार के आखिरी घंटे में की गयी बिकवाली से बीएसई सेंसेक्स 323 अंक से अधिक लुढ़क गया। मुख्य रूप से इन्फोसिस, रिलायंस और एचडीएफसी में नुकसान से बाजार में गिरावट आयी। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार के दौरान ज्यादातर समय बढ़त में था। पर अंत में यह बिकवाली दबाव से 323 यानी 0.55 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,340 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 88 अंक यानी 0.5 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,415 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में मारुति, इन्फोसिस, टेक महिंद्रा, आईटीसी, रिलायंस, एलएंडटी, अल्ट्राटेक सीमेंट और एचडीएफसी सर्वाधिक 2.62 प्रतिशत तक नुकसान में रहे। दूसरी तरफ, फायदे में रहने वाले शेयरों में आईसीआईसीआई बैंक, एनटीपीसी, कोटक बैंक, बजाज फाइनेंस और पावरग्रिड शामिल हैं। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 22 नुकसान में रहे।

एशिया के अन्य बाजारों में भी गिरावट रही। अमेरिका में बांड प्रतिफल बढ़ने और अमेरिका तथा अन्य देशों के कच्चे तेल के दाम में कमी लाने के लिये उठाये गये कदमों से वैश्विक स्तर पर कीमतों में उतार-चढ़ाव से यह गिरावट आयी। शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 4,477.06 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

मंगलवार को बढ़ा था सेंसेक्‍स-Nifty

बिजली, दूरसंचार और फार्मा कंपनियों के शेयरों में लाभ से मंगलवार को सेंसेक्स एक दिन पहले की भारी गिरावट से उबर गया और 198 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ था। शुरुआती कारोबार में बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स करीब 700 अंक टूट गया था। लेकिन बाद में इसने अपने नुकसान की भरपाई की और अंत में यह 198.44 अंक या 0.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ 58,664.33 अंक पर बंद हुआ था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 86.80 अंक या 0.50 प्रतिशत के लाभ से 17,503.35 अंक पर पहुंच गया था।

एक्‍सपर्ट कमेंट

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर के मुताबिक मंगलवार को धातु, सरकारी बैंक और फार्मा कंपनियों के शेयरों की अगुवाई में घरेलू शेयर बाजार गिरावट से उबर गए थे। मिडकैप और स्मॉलकैप का प्रदर्शन मुख्य सूचकांकों से बेहतर रहा था।

उनके मुताबिक जेरोम पावेल को फिर से फेडरल रिजर्व का चेयरमैन नामित किया गया। इसके बावजूद कल कारोबार के अंतिम घंटे में अमेरिकी बाजारों में बिकवाली का सिलसिला चला। अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में रहे। वहीं चीन के शंघाई कम्पोजिट और जापान के निक्की में लाभ रहा।

सोमवार को आई थी बड़ी गिरावट

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,170.12 अंक यानी 1.96 प्रतिशत के नुकसान के साथ 58,465.89 अंक पर आ गया था। सेंसेक्स में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट आई। यह दो माह में सेंसेक्स का सबसे निचला बंद स्तर था। 12 अप्रैल के बाद यह एक दिन में सेंसेक्स की सबसे बड़ी गिरावट है। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 348.25 अंक यानी 1.96 प्रतिशत टूटकर 17,416.55 अंक पर बंद हुआ।

Previous articleकहीं आप भी तो नहीं करते दूध को बार-बार उबालने की ग़लती? जान लें नुकसान
Next articleसोना-चांदी हुआ सस्‍ता, सोना 46,732 रुपये प्रति 10 ग्राम पर हुआ बंद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here