Home बोध कथा विचारों का बोझ

विचारों का बोझ

72
0

एक महात्मा ने पूछा कि सबसे ज्यादा बोझ कौन सा जीव उठा कर घूमता है? किसी ने कहा गधा, तो किसी ने बैल, तो किसी ने ऊंट। लोगों ने अलग अलग प्राणियों के नाम बताए। लेकिन महात्मा किसी के भी जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। महात्मा ने हंसकर कहा , गधे, बैल और ऊंट के ऊपर बोझ रखकर हम गंतव्य तक पहुँचकर उतार देते हैं लेकिन, इंसान अपने मन के ऊपर मरते दम तक विचारों का बोझ लेकर घूमता है।

किसी ने बुरा किया है उसे न भूलने का बोझ, आने वाले कल का बोझ, अपने किये पापों का बोझ इस तरह कई प्रकार के बोझ लेकर इंसान जीता है। जिस दिन इस बोझ को इंसान उतार देगा, उसी दिन सही मायने में जीवन जीना सीख जाएगा।

Previous articleगांधी और हिंदू दर्शन
Next articleआइपीएल 2021 : पंजाब का दूसरा विकेट गिरा, मयंक अग्रवाल अर्धशतक बनाकर आउट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here