चंद घंटों की मेहमान बची उद्धव सरकार, दे सकते हैं इस्तीफा! कुछ देर में आएगा सर्वोच्च न्यायालय का फैसला

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

राज्यपाल ने उद्धव ठाकरे को दिया गुरुवार को बहुमत साबित करने का आदेश

कोश्यारी: शाम 5:00 बजे तक विशेष अ​धिवेशन समाप्त करने के निर्देश

मुंबई। महाराष्ट्र में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गुरुवार को विधानसभा का विशेष अधिवेशन बुलाकर शाम 5:00 बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया है। साथ ही राज्यपाल ने अधिवेशन में बहुमत साबित करने के दौरान विधायकों की गिनती करते करने का निर्देश दिया है। शिवसेना ने इसे ​सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनकर फैसला सुर​क्षित रख लिया है। कुछ ही देर में सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा। ​
राज्यपाल ने यह पत्र महाराष्ट्र विधानमंडल सचिवालय तथा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेजा है। इसके साथ ही राज्यपाल ने इस विशेष अधिवेशन का सीधा प्रसारण भी करने का भी आदेश दिया है। साथ ही राज्यपाल ने उपाध्यक्ष को ध्वनि मत न लेने और सदन को खारिज नहीं करने का निर्देश दिया है। उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री तथा विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस समेत भाजपा नेताओं ने मंगलवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर विशेष अधिवेशन बुलाने की मांग की थी। फडणवीस ने राज्यपाल को बताया था कि महा विकास आघाड़ी सरकार शिवसेना के कुछ विधायकों के बाहर होने से अल्पमत में है, इसलिए फ्लोर टेस्ट जरूरी हो गया है।

ये भी पढ़ें:  कोविड संक्रमितों में दो साल तक मानसिक रोगों का खतरा, रहें सावधान

महाविकास आघाड़ी की बैठक में शामिल नहीं हुई शिवसेना

महाराष्ट्र विधानसभा के विशेष सत्र से पहले महाविकास आघाड़ी के घटक दलों की बुधवार को हुई बैठक में शिवसेना का कोई नेता शामिल नहीं हुआ। शिवसेना के इस रुख से अटकलों का बाजार गर्म है। यह बैठक राकांपा अध्यक्ष शरद पवार की अध्यक्षता में उनके आवास पर आयोजित की गई थी, जो गुरुवार को विधानसभा के विशेष सत्र की तैयारियों पर चर्चा से संबंधित थी। राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल, कांग्रेस के बालासाहेब थोरात एवं अशोक चव्हाण समेत कई प्रमुख नेता बैठक में शामिल हुए। बैठक में महाविकास आघाड़ी के घटक दलों कांग्रेस तथा राकांपा ने गुरुवार को होने वाले विधानसभा के विशेष अधिवेशन के बारे में चर्चा की है। अधिवेशन के लिए कांग्रेस तथा राकांपा के सभी विधायकों को उपस्थित होने के लिए कहा गया है। इस बैठक के लिए शिवसेना नेताओं को भी आमंत्रित किया गया था, लेकिन शिवसेना का कोई भी नेता इस बैठक में शामिल नहीं हुआ। इसे लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। कहा जा रहा है कि शिवसेना विशेष सत्र में महाविकास आघाड़ी से अलग होने का निर्णय कर सकती है। हालांकि इस संबंध में शिवसेना की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

ये भी पढ़ें:  ओडिशा में बाढ़ से भयावह हालात, भारी बारिश के बीच कई तटीय जिलों में ‘हाई अलर्ट’

मां कामाख्या का आशीर्वाद लेकर समर्थक विधायकों के साथ आज मुंबई पहुंचेंगे ​शिंदे

गुवाहाटी। महाराष्ट्र की राजनीति के मुख्य बिंदु बने शिवसेना के विद्रोही विधायक एकनाथ शिंदे बुधवार सुबह लगभग 8 बजे एक सप्ताह के बाद अपने कुछ विधायकों के साथ होटल रेडिसन ब्लू से बाहर निकलकर नीलांचल पहाड़ पर स्थित मां कामाख्या धाम पहुंचे। मां कामाख्या का दर्शन कर होटल लौटने से पूर्व मीडिया से बीचतीच में उद्धव ठाकरे सरकार को सदन में पटखनी देने के लिए हुंकार भरी। शिंदे ने पूजा-अर्चना के बाद कहा कि मां कामाख्या से महाराष्ट्र की सलामती के लिए आशीर्वाद मांगा। उन्होंने कहा कि वे अपने पूरे साथियों के साथ गुरुवार सुबह मुंबई लौटेंगे।

राज्यपाल ने कहा है कि विधान भवन सत्र में विधायकों के आने के बाद उपस्थित विधायकों की कुल संख्या की गणना की जाए, जिससे पता चल सके कि विधानसभा में कितने विधायक हैं। राज्यपाल ने उपाध्यक्ष नरहरि झिजवल को किसी भी हालत में विशेष अधिवेशन को शाम 5:00 बजे तक समाप्त करने का निर्देश दिया है। इस बीच, ऐसा कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे फ्लोर टेस्ट के पक्ष में नहीं है। सूत्रों ने दावा किया है कि उद्धव फ्लोर टेस्ट से पहले ही इस्तीफा दे सकते हैं। बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वे इस पर फैसला ले सकते हैं। यही भी दावा किया जा रहा है कि वे इस्तीफा देने से पहले सदन को संबो​धित भी करेंगे।

ये भी पढ़ें:  डिफेंस सेक्टर को लेकर प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा बयान- अब हम आयातक से बड़े निर्यातक बनने की ओर आगे बढ़ रहे हैं

डणवीस : भाजपा विधायकों को शाम 5:00 बजे तक मुंबई बुलाया

भाजपा ने अपने सभी विधायकों को मुंबई पहुंचने का आदेश दिया है। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के आवास पर बैठक हुई। इस बैठक में देवेंद्र फडणवीस, चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार, आशीष शेलार और गिरीश महाजन जैसे नेता मौजूद रहे। फडणवीस ने ही मंगलवार को बहुमत साबित करने की मांग की थी।

Uddhav government left for a few hours, may resign! Supreme Court’s decision will come in a while

chand ghanton kee mehamaan bachee uddhav sarakaar, de sakate hain isteepha!

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News