Home » मोदी सरकार के बेमिसाल नौ वर्षो की 9 महत्वपूर्ण योजनाएं

मोदी सरकार के बेमिसाल नौ वर्षो की 9 महत्वपूर्ण योजनाएं

केंद्र की मोदी सरकार को सत्ता में आए नौ साल पूरे हो गए हैं। 26 मई 2014 को भारी बहुमत के साथ सरकार बनाने के बाद पीएम मोदी ने बीते 9 सालों में कई अहम फैसले किए हैं, जिससे देश के आम नागरिकों को काफी फायदा पहुंचा है।

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सत्ता पाने के बाद भाजपा सरकार ने देश में कई बड़े अभियान चलाए। इनमें मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे कई अभियान शामिल है।

मेक इन इंडिया

भारत में विनिर्माण के क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए वर्षों से चर्चा होती आई है, लेकिन इसपर कोई ऐसा फैसला नहीं लिया गया जिससे इसको गति मिले। लेकिन मोदी सरकार आने के बाद भारत वैश्विक विनिर्माण केंद्र बनता दिख रहा है।

सरकार ने कुछ ही महीनों के भीतर, निवेश को बढ़ावा देने, नवाचार को बढ़ावा देने, कौशल विकास को बढ़ाने, बौद्धिक संपदा की रक्षा करने और बुनियादी ढांचे के विकास के लिए ‘मेक इन इंडिया’ अभियान शुरू किया।”मेक इन इंडिया” के तहत न केवल विनिर्माण बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी भारत में उद्यमिता को बढ़ावा देने में मदद मिली है। कहीं न कहीं, इसे चीनी सामानों के बहिष्कार का अभियान भी माना जाता है। देश में बने सामानों को तरजीह दिए जाने से छोटे निर्माताओं को भी काफी मदद मिली है। वहीं, सरकार भी इन व्यापारियों की मदद से जुटी है।

डिजिटल इंडिया

डिजिटल इंडिया अभियान भी मोदी सरकार के बड़े अभियान में से एक माना जाता है। इस अभियान के चलते देश के गांव भी डिजिटल भारत का हिस्सा बनने लगे हैं। इसके चलते स्वास्थ्य, शिक्षा और न्यायिक सेवा आदि से जुड़े सरकार के कामकाम डिजिटल रूप से होने लगे हैं। वहीं, जनता ने भी डिजिटल इंडिया अभियान का साथ दिया है और डिजिटल ट्रांजैक्शन में विश्वास जताया।

इस अभियान की शुरुआत 1 जुलाई 2015 में हो गई थी, लेकिन पीएम मोदी द्वारा 2016 में की गई नोटबंदी के बाद डिजिटल ट्रांजैक्शन को गति मिली। ब्रॉडबैंड हाईवे

 मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए लोगों की पहुंच

 पब्लिक इंटरनेट एक्सेस

 ई-गवर्नेंस- प्रौद्योगिकी के माध्यम से सरकार के कामकाज सुधार

 ई-क्रांति – सेवाओं की इलेक्ट्रानिक डिलीवरी

 सभी के लिए सूचना

 इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण

 नौकरियों में आईटी का विकास

 अर्ली हार्वेस्ट कार्यक्रम

उज्ज्वला योजना

देश के गरीब परिवार की महिलाओं को मिट्टी के चूल्हे और धुएं से आजादी दिलाने के पीएम मोदी के सपने को साकार करने के लिए केंद्र सरकार ने 1 मई 2016 को उज्ज्वला योजना की शुरुआत की।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान

मोदी सरकार के सबसे चर्चित अभियानों में से एक बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ है। 22 जनवरी, 2015 को शुरू हुए इस अभियान के जरिए मोदी सरकार ने देश के विभिन्न क्षेत्रों में रहने और काम करने वाली लड़कियों को संरक्षण और सशक्त बनाने की पहल की।

अभियान का ये था उद्देश्य

लड़कियों का अस्तित्व और सुरक्षा सुनिश्चित करना इस योजना का मुख्य उद्देश्य था।

लड़कियों को शिक्षा प्राप्त करने में सुविधा प्रदान कराने में भी जोर दिया गया।

लड़कियों को शोषण से बचाने और शिक्षा के माध्यम से उन्हें सामाजिक और वित्तीय रूप से स्वतंत्र बनाना भी इसका एक उद्देश्य रहा।

किसान सम्मान निधि योजना

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भारत सरकार ने छोटे एवं सीमान्त किसानों के सम्मान में वर्ष 2018 में शुरू की थी।

PMKSN तहत शुरुआत में जिस भी किसान के पास पास 2 हेक्टेयर (4.9 एकड़) से कम भूमि है वो इस योजना का पात्र माना गया था, लेकिन बाद में इसे विस्तार देते हुए सभी कृषकों के लिए लागू कर दिया गया।

इस योजना के तहत सभी किसानों को प्रति वर्ष 6 हजार रूपया मिलते हैं। किसान को 2 हजार रुपये की तीन किश्तों में सहायता मिलती है। योजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है।

आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना आर्थिक रूप से कमजोर लोगों अर्थात बीपीएल कार्ड धारकों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराने के लिए शुरू की गई थी। इसके अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख तक का कैशरहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाता है। ये योजना कई राज्यों में लागू हैं, हालांकि कुछ राज्यों ने इसे लागू करने से मना कर दिया।

जनधन योजना

प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत सरकार ने देश भर में सभी परिवारों को बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराना सुनिश्चित किया। इसकी शुरूआत 28 अगस्त 2014 हुई जिसके तहत हर परिवार में शून्य बैलेंस वाले लगभग 1.5 करोड़ खाते खोले गए।

स्वच्छ भारत अभियान

स्वच्छ भारत अभियान मोदी सरकार का सबसे चर्चित अभियान रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने 2 अक्टूाबर 2014 को इस अभियान की शुरुआत की थी और सभी लोगों को इससे जुड़ने की अपील की। योजना को आम लोगों का भी साथ मिला। इसके तहत सफाई करने की दिशा में प्रतिवर्ष 100 घंटे के श्रमदान करने की भी अपील की गई।

प्रधानमंत्री आवास योजना

मोदी सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजना प्रधानमंत्री आवास योजना है। इसके तहत सरकार ने शहरों एवं ग्रामीण इलाकों में रहने वाले निर्धन लोगों को पक्के मकान का वादा किया है।

इस योजना के तहत सरकार ग्रामीण लोगों को घर बनाने के लिए 1.2 लाख तक की सब्सिडी देती है। वहीं, शहरों में ये राशि 2.67 लाख रुपये तक की है। सरकार ने इस योजना के तहत अब तक 3.45 करोड़ घर बनाए हैं।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd