नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल चौथे दिन उपराज्यपाल के दफ्तर में धरना पर बैठे हैं. उनके साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भूख हड़ताल कर रहे हैं. अरविंद केजरीवाल ने आज अपनी मांगों को दोहराते हुए कहा कि आईएएस अपना हड़ताल खत्म करें. साथ ही उन्होंने दावा किया कि उन्हें किसी से मिलने नहीं दिया जा रहा है. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ''मेरा भाई पुणे से मुझसे मिलने आया. उसको मुझसे मिलने नहीं दिया गया. ये तो ग़लत है.''

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ''आख़िर दिल्ली वाले क्या माँग रहे हैं- 1. IAS अफ़सरों की हड़ताल ख़त्म करो. 2. राशन की डोरस्टेप डिलिवरी लागू करो. नहीं होना चाहिए ये? दुनिया में कोई कह सकता है कि ये नहीं होना चाहिए? फिर ये लोग क्यों नहीं कर रहे? आज चौथा दिन है. इनकी मंशा ठीक नहीं लग रही.''

दिल्ली के इतिहास में यह पहली बार है जब मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने उपराज्यपाल के दफ्तर में धरना दिया हो. दरअसल दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार की मांग है कि आईएएस अधिकारियों को ‘हड़ताल’ खत्म करने के निर्देश दिए जाएं. ध्यान रहे की दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश से 19-20 फरवरी की दरमियानी रात कथित तौर पर हुई मारपीट के बाद आईएएस अधिकारी हड़ताल पर चले गए थे. मुख्यमंत्री गरीबों को उनके घरों तक राशन पहुंचाने के लिए सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी देने की भी मांग कर रहे हैं. एलजी ने इन मांगों को मानने से इनकार कर दिया है.

धरना का जवाब धरना से
बुधवार को केजरीवाल के धरने के विरोध में बीजेपी के नेता अरविंद केजरीवाल के दफ्तर में धरने पर बैठ गए. इनमें सांसद प्रवेश वर्मा, विधायक विजेंदर गुप्ता, विधायक मनजिंदर सिरसा और आम आदमी पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा शामिल थे. मनजिंदर सिरसा ने आज ट्वीट कर कहा, ''उनकी नौटंकी vs हमारा धरना. केजरीवाल दिल्ली में अपनी वोटे बचाने के लिये, हम दिल्ली के लोगों को बचाने के लिये. केजरीवाल अपनी ज़िम्मेदारी छोड़ के भागा है, हम अपनी ज़िम्मेदारी निभाने आये हैं! केजरीवाल मोदी जी को गाली देने के लिये, हम दिल्ली को पानी देने के लिये लड़ाई लड़ रहें हैं!'' बीजेपी केजरीवाल के धरने के खिलाफ कई जगहों पर प्रदर्शन भी कर रही है.

...तो पीएम आवास पर धरना देंगे केजरीवाल
केजरीवाल के धरने के बीच उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कल केन्द्रीय गृह सचिव राजीव गाबा से मुलाकात की थी. सूत्रों ने बताया कि बैजल आज दूसरे दिन अपने कार्यालय नहीं पहुंचे. वहीं केजरीवाल अपनी मांगों पर अड़े हैं. केजरीवाल ने रविवार से पहले इस समस्या का हल नहीं निकलने पर उस दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यालय के बाहर धरना देने की धमकी दी है.

विदेश