देश को अभी बुलेट ट्रेन का और इंतजार करना पड़ सकता है। भूमि अधिग्रहण में हो रही देरी के चलते बुलेट ट्रेन की डेडलाइन भी बढ़ सकती है। इस परियोजना को लेकर न सिर्फ जनता के बीच में उत्सुकता है बल्कि यह पीएम मोदी के लिए भी महात्वाकांक्षी परियोजना है। भूमि अधिग्रहण में देरी के चलते लोगों को बुलेट ट्रेन की सवारी के लिए और इंतजार करना पड़ सकता है। मुंबई से अहमदाबाद को जोड़ने वाली यह ट्रेन जापान और भारत का साझा प्रोजेक्ट है।

जापान सरकार इस परियोजना के लिए लोन देने को तैयार है जिसमें वह न्यूनतम ब्याज दर पर भारत को इस परियोजना के लिए लोन देगी। भूमि अधिग्रहण में हो रही देरी के कारण लोन की प्रोसेस में देरी हो रही है। इसी कारण परियोजना के विकसित होने में देर होगी। तटीय क्षेत्र के किसानों द्वारा इस परियोजना का विरोध किया जा रहा है।

चीकू और आम उत्पादक किसानों ने इस परियोजना का विरोध किया है जिस कारण इससे भूमि अधिग्रहण में देरी हो रही है। इस समस्या को सुलझाने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय और अधिकारी मॉनीटिरिंग कर रहे है। 

विदेश