दुर्ग, भिलाई । भिलाई में आयोजित प्रधानमंत्री की सभा में भीड़ जुटाने के नाम पर शासन प्रशासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों पर दबाव बनाया जा रहा है। मौखिक निर्देश पर सरपंच व सचिवों को प्रत्येक पंचायत में कम से कम दस गाड़ियों की व्यवस्था करने कहा जा रहा है। इसके अलावा भोजन के लिए भी व्यवस्था बनाने दबाव डाला जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 14 जून को भिलाई में आमसभा है। आमसभा में दो लाख भीड़ जुटाने का टारगेट दिया गया है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री डॉ.रमनसिंह सहित भाजपा के अन्य नेताओं ने कार्यक्रम को सफल बनाने आठ जिले के भाजपा के पदाधिकारियों की बैठक ली थी। इधर सभा आयोजन की तिथि करीब आते ही प्रशासन ने अपने स्तर पर ग्रामीणों अंचलों में निर्वाचित जनप्रतिनिधियों पर भीड़ जुटाने के नाम पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के सरपंचों व पंचायत सचिवों को इसके लिए मौखिक रूप से निर्देश दिया गया है। प्रत्येक सरपंचों को कम से दस वाहनों की व्यवस्था करने कहा गया है। साथ ही भोजन व्यवस्था के नाम पर भी सहयोग मांगा जा रहा है। पंचायत प्रतिनिधियों से कहा गया है कि अपने पंचायत क्षेत्र से अधिक से अधिक भीड़ एकत्रित करें।

कांग्रेसी मूड के लोगों को न लाएं

एक सरपंच ने बताया कि पीएम की सभा में भीड़ जुटाने व्यवस्था के संबंध में एक अधिकारी बैठक लेने आए थे। जिन्होंने यह भी हिदायत दी है कि सभा में कांग्रेसी मूड के लोगों को न लाया जाएं। इसका खास ध्यान रखा जाए। इसके अलावा पंचायत स्तर पर वाहन की व्यवस्था कर सभी को समय से पूर्व सभा स्थल पर ले जाने भी कहा गया है।

अधिकारी कर रहे हैं मॉनीटरिंग

जिले में तीन ब्लाक है। तीन ब्लाक में 297 ग्राम पंचायत है। पीएम की सभा स्थल से जिले के गांवों की दूरी निकट है। इसे ध्यान में रखते हुए प्रशासनिक अमला जिले से ही अधिक से अधिक भीड़ जुटा लेने की मशक्कत कर रहा है। प्रत्येक जनपद पंचायत में एक अधिकारी को ग्राम पंचायत सरपंच व सचिव द्वारा किए जाने वाली व्यवस्था की मॉनीटरिंग करने कहा है।

किस पंचायत से कितनी गाड़ी की व्यवस्था की जा रही है कितने लोग आ सकते हैं। इसके बारे में जानकारी ली जा रही है। साथ ही पंचायत में ऐसे हितग्राही जिन्हें केंद्र और राज्य सरकार की पूरी योजनाओं का लाभ मिल रहा है उनके बारे में भी जानकारी मंगाई जा रही है। ताकि ऐसे हितग्राहियों को पीएम की सभा में लाया जा सका।

वाहनों की व्यवस्था करने कहा

पीएम की सभा के लिए सरपंचों को भी वाहनों की व्यवस्था करने कहा जा रहा है। इस संबंध में मौखिक निर्देश दिया गया है। भोजन संबंधी व्यवस्था भी बनाने कहा जा रहा है लेकिन पंचायतों के पास इतना पैसा नहीं है कि व्यवस्था किया जा सके। 

विदेश