22 हजार बच्चों के खातों में लैटपटॉप की राशि की स्थानान्तरित, बच्चों का किया गुलाब के फूलों से स्वागत
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फिर दोहराया है कि प्रदेश के किसी भी बच्चे को पैसे के अभाव में पढ़ाई से वंचित नहीं होने देंगे। भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए आयोजित लैपटॉप वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि हमने अब 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप देने का निर्णय लिया है। पहले चरण में 22 हजार प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को लैपटॉप की राशि दी जा रही है। जल्द ही दूसरे चरण का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
कार्यक्रम स्थल पहुंचे मुख्यमंत्री ने सबसे पहले विद्यार्थियों का गुलाब के फूलों से स्वागत किया और स्वयं बच्चों से मिलने उनके स्थान पर पहुंचे। इस दौरान बच्चों ने तालियां बजाकर सीएम का अभिवादन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने बच्चों की पढ़ाई के लिए बहुत सी योजनाएं चलाई हैं। कक्षा एक से लेकर कॉलेज तक की पढ़ाई के लिए सरकार ने जिम्मेदारी ली है। हम चाहते हैं कि प्रदेश के बच्चे प्रशासनिक सेवा में जाएं। उच्च पदों पर जाने से प्रदेश का सम्मान बढ़ेगा। कार्यक्रम की शुरूआत में स्कूल शिक्षा आयुक्त जयश्री कियावत ने बताया कि आज के कार्यक्रम में 20 हजार प्रतिभाशाली बच्चे शामिल हुए हैं। कार्यक्रम में मुख्यतौर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह, तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी, विधायक रामेश्वर शर्मा, सुरेन्द्र नाथ सिंह, माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष एसआर मोहंती, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा दीप्ति गौड़ मुखर्जी, संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत, एमपी बोर्ड के सचिव अजय गंगवार एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे। प्रदेश में वर्ष 2009-10 में प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं की संख्या केवल 473 थी, जो वर्ष 2017-18 में 47 गुना बढ़कर 22 हजार 36 हो गई है
 

विदेश