मेलबर्न: ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व उपकप्तान डेविड वॉर्नर दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज के दौरान बॉल टैंपरिंग विवाद में बैन होने के बाद जल्द ही एक नए रोल में नजर आएंगे. दरअसल, डेविड वॉर्नर 13 जून से इंग्लैंड दौरे पर होने वाली पांच मैचों की वनडे सीरीज में कमेंट्री करते नजर आएंगे. बॉल टैंपरिंग मामले में 12 महीने के लिए निलंबित किए गए वॉर्नर चैनल नाइन के लिए कमेंट्री करेंगे. वेबसाइट ईएसपीएन क्रिकइंफो ने चैनल नाइन के निदेशक टॉम मलोने के हवाले से कहा, "डेविड वॉर्नर वनडे और टी-20 के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहे हैं. इसलिए वह इंग्लैंड में होने वाली सीरीज को कवरेज करने के लिए पूरी तरह से सही हैं." 

डेेविड वॉर्नर 16 जून को कार्डिफ में होने वाले दूसरे मैच से कमेंट्री पैनल के साथ जुड़ेंगे. इसके बाद वह अपने पूर्व टीम साथी और बॉल टेम्परिंग मामले में एक साल का बैन झेल रहे स्टीव स्मिथ के साथ 28 जून से शुरू होने वाली ग्लोबल टी-20 कनाडा टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगें. नए कप्तान टिम पैन और कोच जस्टिन लेंगर के मार्गदर्शन में ऑस्ट्रेलिया की यह पहली सीरीज होगी. 

28 जून को करेंगे क्रिकेट मैदान में वापसी 
कनाडा टी-20 लीग में ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट खिलाड़ी डेविड वॉर्नर अपने हमवतन स्टीव स्मिथ के साथ खेलेंगे. वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम' की रिपोर्ट के अनुसार, इस लीग के जरिए स्मिथ और वॉर्नर क्रिकेट मैदान पर वापसी कर रहे हैं. केपटाउन में इस साल हुए टेस्ट सीरीज के दौरान बॉल टेम्परिंग मामले में फंसने के कारण स्मिथ और वॉर्नर को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा 12 माह के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था. 

कनाडा लीग में जहां एक ओर वॉर्नर को विनिपेग हॉक्स के लिए खेलते देखा जाएगा, वहीं स्मिथ को टोरंटो नेशनल का प्रतिनिधित्व करते देखा जाएगा. वॉर्नर 28 जून से 15 जुलाई तक ही कनाडा लीग में हॉक्स का प्रतिनिधित्व कर पाएंगे. इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया के नॉर्दन टेरिटरी का प्रतिनिधित्व करेंगे. 

बॉल टैंपरिंग के बाद डेविड वॉर्नर ने सीखा सबक 
मार्च में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर हुए बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद उन्होंने कहा था कि, "कभी-कभार हमारे समाज में लोगों के बाहर आकर समर्थन करने के लिए कुछ बुरा होना होता है और मैं समझता हूं कि जिस तरह से लोगों ने मेरा समर्थन किया उससे मैंने एक महत्वूपर्ण सबक सीखा है." वॉर्नर ने कहा था, "जब मैं खेल रहा था तब क्रिकेट, होटल, बैग पैक करने जैसी गतिविधियों में व्यस्त रहता था. मुझे इन चीजों की याद भी आ रही है, लेकिन अब मैं घर पर रहता हूं और अपने बच्चों के साथ ज्यादा समय बिताता हूं जिसका मैं आनंद भी उठा रहा हूं."

विदेश