पेरिस। क्ले कोर्ट के बादशाह माने जाने वाले विश्व नंबर एक राफेल नडाल ने शुक्रवार को साल के दूसरे ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन के फाइनल में जगह बना ली। वह अपने 11वें फ्रेंच ओपन खिताब के लिए ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम से मुकाबला करेंगे। मौजूदा विजेता नडाल ने सेमीफाइनल में विश्व नंबर छह अर्जेटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो को मात देकर फाइनल में प्रवेश किया। नडाल ने डेल पोत्रो को 6-4, 6-1, 6-2 से मात दी। यह मैच दो घंटे 14 मिनट तक चला।

डेल पोत्रो ने पहले सेट में कुछ हद तक नडाल का सामना किया, लेकिन दूसरे सेट में नडाल पूरी तरह से अर्जेटीना के खिलाड़ी पर हावी रहे और 5-0 की बढ़त बनाए हुए थे। इस बीच पोत्रो एक अंक लेने में कामयाब रहे, लेकिन इससे आगे वह नहीं जा सके। तीसरे सेट में भी डेल पोत्रो लाल बजरी के बादशाह के सामने टिक नहीं सके और हार कर फाइनल में जाने से महरूम रह गए। फाइनल में नडाल थिएम से भिड़ेंगे।

थिएम पहली बार फाइनल में : क्वार्टर फाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविक को मात देकर उलटफेर करने वाले इटली के टेनिस खिलाड़ी मार्को सेचिनाटो अपने विजयी क्रम को सेमीफाइनल से आगे नहीं ले जा पाए और थिएम ने उनके सफर को सेमीफाइनल में ही रोक दिया। थिएम ने पहली बार किसी भी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है। थिएम ने सेचिनाटो को 7-5, 7-6, 6-1 से मात दी। यह मैच दो घंटे 17 मिनट तक चला। पहले दो सेटों में इटली के खिलाड़ी ने टूर्नामेंट में सातवीं वरीयता प्राप्त थिएम को अच्छी टक्कर दी, लेकिन थिएम से कमतर ही साबित हुए।

चोट के बाद वापसी से खुश स्टीफंस

स्लोन स्टीफंस को पैर की चोट के कारण करीब 11 महीने तक कोर्ट से बाहर रहना पड़ा था। चोट से वापसी करते ही उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और साल के दूसरे ग्रैंडस्लैम के फाइनल में जगह बना ली। 25 वर्षीय अमेरिका की टेनिस खिलाड़ी ने पिछले साल 2017 में यूएस ओपन का खिताब जीता था। अब उनकी नजर फाइनल में सिमोना हालेप को हराकर दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने पर होंगी। स्टीफंस ने कहा कि 11 महीने कोर्ट से बाहर रहने के बाद यह अच्छा परिणाम है। मैंने इसके लिए काफी मेहनत की थी और जिंदगी में उतार चढ़ाव आते रहते हैं।

विदेश