तेहरान टाइम्स की एक ख़बर के अनुसार अमरीका के नए प्रतिबंधों के बाद भारत ईरान के साथ व्यापार में यूरो और अपनी मुद्रा रुपया के इस्तेमाल करने पर विचार कर रहा है.तेहरान टाइम्स का कहना है कि इससे पहले भी भारत ईरान के साथ व्यापार में अपनी मुद्रा रुपए का इस्तेमाल कर चुका है. इस ईरानी अख़बार का कहना है कि ईरान को कुछ व्यापारिक भुगतान में रुपए से कोई दिक़्क़त नहीं है, लेकिन वो यूरो लेना पसंद करेगा.

अमरीकी प्रतिबंधों को देखते हुए ईरान और भारत पीटीए यानी प्राथमिकता वाले व्यापार समझौते पर बातचीत करने जा रहे हैं. तेहरान टाइम्स का कहना है कि पहले चरण की बातचीत अगस्त महीने में होगी.

भारत में जीएसटी लागू होने के बाद से ईरान पूरी टैक्स संरचना को इस बातचीत में समझना चाहता है.

भारत ईरान से पेट्रोलियम, उर्वरक और केमिकल आयात करता है जबकि भारत से ईरान अनाज, कॉफ़ी, चाय, मसाले और ऑर्गेनिक केमिकल का आयात करता है.

प्रधानमंत्री मोदी आज चीन रवाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (9 मई) शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (एससीओ) के दो दिवसीय सम्मेलन में शामिल होने चीनी शहर चिंदाओ रवाना हो रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि भारत के लिए एससीओ का यह पहला सम्मेलन है जब पूर्णकालिक सदस्य की हैसियत से अपनी उपस्थिति दर्ज कराएगा.

प्रधानमंत्री ने कहा है कि एससीओ देशों के नेताओं से कई मुद्दों पर व्यापक चर्चा होगी. एससीओ में भारत, पाकिस्तान, रूस, चीन, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान, उज़बेकिस्तान और कज़ाख़्स्तान हैं.

एनडीए छोड़ेंगे कुशवाहा?

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा शुक्रवार को एनडीए की एक और डिनर पार्टी में शामिल नहीं हुए. हालांकि कुशवाहा का कहना है कि वो निजी कारणों से शामिल नहीं हो सके और इसका कोई सियासी मायने नहीं है. कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी है और शुक्रवार को पटना पहुंचे थे.

बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार शाम इफ़्तार पार्टी का आयोजन किया था, लेकिन कुशवाहा शामिल नहीं हुए.

मीडिया में इस तरह की ख़बरें है कि नीतीश के एनडीए में आने के बाद से कुशवाहा नाराज़ हैं और राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व वाले महागठबंधन में शामिल हो सकते हैं.

फ़र्ज़ी वोटरों के आरोप को चुनाव आयोग ने किया ख़ारिज

कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में 60 लाख फ़र्ज़ी मतदाताओं को वोटर लिस्ट में शामिल किए जाने का आरोप लगाया था. द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार चुनाव आयोग की दो सदस्यीय टीम ने अपनी जांच में बताया है कि इस आरोप में कोई सबूत नहीं पाए गए.

कांग्रेस नेता कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुनाव आयोग में जाकर इसकी शिकायत की थी. मध्य प्रदेश में इसी साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

ट्रंप के फ़ैसले से जी-7 देश के बाक़ी सदस्य नाराज़

कनाडा के क्युबेक में जी-सात सम्मेलन शुरू होने से पहले अमरीका के आयात शुल्क बढ़ाने के फ़ैसले पर सदस्य देशों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि अगर ट्रंप अलग-थलग रहना चाहते हैं तो अन्य देश साथ मिलकर अपने बीच समझौता करने के लिए तैयार हैं.

विदेश