मुंबई। कप्तान सुनील छेत्री ने अपने 100वें मैच में दो गोल कर इंटरकांटिनेंटल कप में भारतीय टीम को केन्या पर 3-0 से जीत दिलाई। जीत के साथ ही भारत टूर्नामेंट के फाइनल में भी पहुंच गया।

पहला हाफ खाली जाने के बाद चीनी ताइपे के खिलाफ हैट्रिक लगाने वाले छेत्री ने 68वें मिनट में भारत के लिए पहला गोल दागा। मेजबान टीम को यह गोल एक विवादित पेनल्टी कॉर्नर के जरिये हासिल हुआ। इसके बाद 71वें मिनट में ही जेजे लालपेखलुआ ने दूसरा गोल दाग कर भारत की बढ़त 2-0 कर दी। भारतीय टीम ने इसके बाद मैच में अपना दबदबा बनाए रखा और 91 मिनट में छेत्री ने बलवंत सिंह के पास पर टीम के लिए अंतिम गोल दागा।

तेज हवाओं एवं बारिश ने मुंबई फुटबॉल एरिना में खेले गए इस मैच में खलल डाला, जिसके कारण खिलाड़ियों को गेंद पास करने में परेशानी हुई। दोनों ही टीमें खराब मौसम के कारण अपने खेल में आक्रामकता नहीं ला पाईं। हालांकि, खराब मौसम के बावजूद भारतीय कप्तान के बुलावे पर स्टेडियम में पहुंचे करीब 12000 भारतीय प्रशंसकों ने अपनी टीम का लगातार उत्साह बढ़ाया।

पहले से ही फाइनल में जगह बना चुका भारत गुरुवार को अपने अंतिम राउंड रॉबिन मुकाबले में ऊंची रैंकिंग पर काबिज न्यूजीलैंड का सामना करेगा।

सुनील की अपील पर बिके टिकट

सुनील छेत्री की जज्बाती अपील के बाद इस मैच के सारे टिकट बिक गए। भारतीय कप्तान छेत्री ने शनिवार को एक भावुक वीडियो में प्रशंसकों से मैदान पर आकर मैच देखने का अनुरोध किया था। यह छेत्री का 100वां अंतरराष्ट्रीय मैच है। मुंबई जिला फुटबॉल संघ के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया, "मुझे खुशी है कि छेत्री की अपील के बाद कई लोगों ने टिकट खरीदे। यह केवल शुरुआत है। हमें यह सुनिश्चित करना है कि भारतीय फुटबॉल टीम जब भी खेले, मैदान खचाखच भरे हों।"

छेत्री ने शनिवार को ट्विटर पर कहा था, "आप सभी के लिए, जिन्होंने भारतीय फुटबॉल से उम्मीदें छोड़ दी है। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि मैदान पर हमें खेलते देखने के लिए आएं।"

विदेश