आम जिंदगी में हम सभी को जहरीले पदार्थों का इस्तेमाल करना पड़ता है। ये जहरीले पदार्थे केमिकल से बनते हैं। कुछ केमिकल तो नेचुरल होते हैं तो कुछ ऐसे भी होते हैं जो हमारे शरीर को सूट नहीं करते। हर दिन हमें शैम्पू से लेकर अन्य चीजों के रूप में केमिकल का सामना करना पड़ता है।


हमारा शरीर कई बार इन केमिकलों से लड़ने में सक्षम होता है लेकिन कई बार उसे मदद की जरूरत पड़ती है। इसलिए हम यहां आपको उन 8 जहरीले चीजों की लिस्ट दे रहे हैं जो आपकी फर्टिलिटी (प्रजनन क्षमता) को प्रभावित कर सकते हैं।


ये 8 चीजें घटना सकती हैं प्रजनन क्षमता

1- कीटनाशक
जब किसी कपल को बेबी चाहिए होता है तो जरूरी होता है कि उनका बॉडी सिस्टम सही से काम कर रहा हो। यानी बॉडी का केमिकल बैलेंस बेहतर होना जरूरी है। चूंकि भोजन के बिना हम जीवित नहीं रह सकते। इसलिए हम जो खना खाते हैं उसकी क्वालिटी और प्रकार अच्छा होना जरूरी है। क्योंकि शरीर की ऊर्जा हमारे भोजन पर ही निर्भर है। आजकल ज्यादातक खाद्य पदार्थ केमिकल की सहायता से ही तैयार किए जाते हैं। ऐसे में इनका हानिकारक केमिकल हमारे शरीर की प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकता है।

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि गर्म टॉयलेट सीट भी प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर कसती है। लोग कई घंटे तक लगतार अपनी सीट पर बैठे रहते हैं और सीट का तापमान बढ़ जाता है उनकी प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होने का खतरा होता है। कार की गर्म सीट भी नुकसान देह है क्योंकि इससे शुक्राणु नष्ट होने का खतरा रहता है।


3- इलेक्ट्रॉनिक उपकरण
आपने एंटी रेडिएशन डिवाइसेस के बारे में सुना होगा। यह एंटी रेडिशन नाम का शब्द इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से निकलने वाले रेडिएशन के कारण सामने आया है। इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के प्रभाव से पुरुषों की फर्टीलिट प्रभावित होने की पुष्टि हो चुकी है लेकिन अभी इससे महिलाओं के संबंध में जानकारी नहीं मिली।


4- ब्लू लाइट पलूशन
ब्लू लाइट यानी कम्प्यूटर, मोबाइल या गैजेट्स की स्क्रीन से निकलने वाली किरणें भी इंसान की फर्टीलिटी के लिए नुकसान देह साबित हो सकती हैं। सभी को अच्छी नींद की जरूरत सिर्फ फर्टीलिटी बेहतर करने के लिए जरूरी नहीं है बल्कि शरीर को नष्ट को चुकी कोशिकाओं को रिपेयर करने के लिए भी अच्छी नींद लेना जरूरी है। लेकिन जब से टीवी, लैपटॉप और स्मार्टफोन हमारी जिंदगी में आए हैं जब से आए हैं तब नई जनरेशन की नींद काफी ज्यादा प्रभावित हो रही है। नींद के प्रभावित होने महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी भी प्रभावित होना तय है।

5- सौंदर्य प्रसाधन-

आप जितने भी ब्यूटी प्रोडक्ट यूज करते हैं उनमें अधिकांश प्रोडक्ट हानिकारक केमिकल की मदद से तैयार होते हैं। ये केमिकल आपके शरीर के हार्मोन को प्रभावित करते हैं। इसलिए अपनी फर्टीलिटी दुरुस्त रखना है कि ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल थोड़ी संभलकर करें।


6- टॉक्सिक पेंट
घर में इस्तेमाल होने पर कई प्रकार के पेंट भी नुकसान देह हो सकते हैं। हालांकि हाई वीओसी वाले पेंट्स पर प्रतिबंध लगा हुआ है इसके बाद भी यदि आपके घर में काफी पुराना पेंट लगा है तो आपको उससे नुकसान पहुंच सकता है। अपने घर में नया पेंट लगवाएं लेकिन ध्यान रखें कि उसकी वीओसी( वोलाटाइल ऑर्गेनिक कम्पाउंड) रेटिंग कम से कम हो।


7- टैप वॉटर
एक ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि आपके घर में लगा सप्लाई वाला नल एक ऐसे पाइप से जुड़ा है तो करीब 40 साल पुराना है तो उसे पानी के साथ हानिकारक रसायन आ सकते हैं जोकि प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं। इसलिए जरूरी है आप पानी को साफ करके या छानकर ही इस्तेमाल में लाएं। पीने के लिए वॉटर फिल्टर का इस्तेमाल अच्छा हो सकता है।


8-प्लास्टिक

आज कल हर चीज की पैकिंग प्लास्टिक रैपर में हो रही है जो कि पूरी तरह से सुरक्षित नहीं माना जाता। क्योंकि इसके हानिकारक रसायन कुछ मात्रा में हमारे भोजन में मिल जाते हैं और प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं। कोशिश करें कि कम से कम प्लाटिक की चीजें इस्तेमाल करें।

विदेश