मुंबई: फाफ डु प्लेसिस की 42 गेंदों में 67 रनों की नाबाद पारी के दम पर मंगलवार (22 मई) को पहले क्वालीफायर मैच में हैदराबाद के मुंह से जीत छीनते हुए चेन्नई ने आईपीएल 2018 के फाइनल में जगह बना ली है. इस मैच को जीत चेन्नई ने सीधे फाइनल में जगह बना ली है हालांकि, हैदराबाद की फाइनल खेलने की उम्मीदें अभी खत्म नहीं हुई हैं. उसे दूसरे क्वालीफायर में खेलने का मौका मिलेगा, जहां उसका सामना कोलकाता और राजस्थान के बीच होने वाले एलिमिनेटर मैच की विजेता टीम से होगा. चेन्नई के करिश्माईकप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टीम के 7वीं बार आईपीएल फाइनल में पहुंचने का श्रेय ड्रेसिंग रूम के माहौल को दिया. 

आईपीएल में दो साल के प्रतिबंध के बाद टूर्नामेंट में वापसी कर रही दो बार की चैम्पियन चेन्नई ने हैदराबाद को पहले क्वालीफायर में दो विकेट से हराकर 7वीं बार फाइनल में जगह बनाई है. महेंद्र सिंह धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘पिछले 10 सीजन से हमारी टीम अच्छी रही है, लेकिन इसका श्रेय ड्रेसिंग रूम के माहौल को ज्यादा जाता है.’’ 

दो बार के विश्व कप विजेता कप्तान ने कहा, ‘‘यह खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के बिना संभव नहीं है. माहौल अच्छा नहीं होगा तो खिलाड़ी एक दिशा में नहीं चलेंगे लेकिन हम अपने खिलाड़ियों को एक दिशा में रखने में कामयाब रहे हैं.’’ 

मैच के बाद कप्तान धोनी की कहना था, ''अगर ड्रेसिंग रूम का माहौल ठीक नहीं हो तो फिर मैदान पर प्रदर्शन करना मुश्किल हो जाता है. हमने सालों की मेहनत से ऐसा ड्रेसिंग रूम तैयार किया है, जहां किसी भी खिलाड़ी को टीम के हित मे सोचने के लिए प्रेरित किया जा सकता है.''

हरफनमौला ड्वेन ब्रावो ने जीत का जश्न ड्रेसिंग रूम में डांस के साथ मनाया. टीम ने टि्वटर पर यह वीडियो डाला है जिसमें ब्रावो और हरभजन सिंह कप्तान धोनी के सामने नाच रहे हैं. धोनी ने कहा, ‘‘जीतना हमेशा सुखद होता है. शीर्ष दो में रहने के मायने थे कि आपको एक और मौका मिलेगा.’’ 

जीत के लिए 140 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई ने सात विकेट 92 रन पर गंवा दिए थे, लेकिन फाफ डु प्लेसिस ने 42 गेंद में 67 रन बनाकर टीम को जीत तक पहुंचाया. फाफ की तारीफ करते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने कहा, ‘‘फाफ की पारी ऐसी थी जिसमें अनुभव मायने रखता है. कम मैच खेलने के बावजूद इस तरह खेलना आसान नहीं होता. इसलिए मैं हमेशा मानसिक तैयारी पर जोर देता हूं और इसमें अनुभव की भूमिका अहम होती है.’’ 

बता दें कि वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में हैदराबाद द्वारा रखे गए 140 रनों के जबाव में एक समय चेन्नई ने अपने आठ विकेट 113 रनों पर ही खो दिए थे, लेकिन फाफ डु प्लेसिस ने 18वें ओवर में 20 रन और 19वें ओवर में 17 रन लेकर चेन्नई को जीत के करीब पहुंचा दिया और फिर आखिरी ओवर की पहली गेंद पर छक्का मार चेन्नई को दो विकेट से जीत दिलाई.

विदेश