जेएएनएन, चंडीगढ़। महाशिवरात्रि पर पूरा पंजाब, हरियाणा एवं चंडीगढ़ शिवमय हो गया। मंदिरों और शिवालयाें में तड़के से श्रद्धालुओं की भी़ड़ लगी है। लोग शिवलिंग का जलाभिषेक अौर दुग्‍धाभिषेक कर रहे हैं। मंदिरों और शिवालयों की सजावट बेहद माेहक है। पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुअों की लंबी कतारें लगी हैं। सबसे ज्यादा भीड़ पठानकोट के कंडी क्षेत्र में स्थित मुक्तेश्वर धाम, गुरदासपुर के कलानौर स्थित महाकालेश्वर मंदिर, पंचकूला  के सकेतड़ी मंदिर, करनाल में श्रद्धालु कर्णेश्वर मंदिर में उमड़ी। महाशिवरात्रि को लेकर इस बार संशय है। अधिकांश लोग आज ही पर्व मना रहे हैं, जबकि पर्व की सरकारी छुट्टी कल है।

चंडीगढ़, अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, पठानकोट, नंगल, जालंधर, अंबाला, पानीपत, हिसार, करनाल, पंचकाला सहित सभी शहरों में श्रद्धालुओं की भीड़ मंदिरों और शिवालयों में लगी है। अमृतसर के कैसी वाला बाग भैया मंदिर में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पडा। यहां श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगी रही। कमोबेश यही स्थिति अन्य मंदिरों में भी रही। मंदिरों के बाहर लंगर अ‍ादि का भी इंतजाम किए गए हैं। लोग शिवलिंगों का दुग्‍ध‍ाभिषेक कर कर रहे हैं। चारों ओर हर-हर महादेव और बोल बम का घोष गूंज रहा है।

मंदिरों के बाहर मेला सा लगा हुआ है। ग्रामीण क्षेत्राें में भी महाशिवरात्रि की धूम है।चंडीगढ़ के मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की सुबह से भीड़ लगी है। सेक्‍टर आठ के मंदिर सहित पूरे शहर में मंदिरों में भारी भीड़ है। कई जगह इस मौके पर लंगर आदि का भी आयोजन किया गया है। कई जगह श्रद्धालुओं की कतारें सड़कों तक पहुंच गई हैं। इससे यातायात पर भी असर पड़ रहा है।

पंचकूला में मुख्य शिवरात्री समारोह सकेतड़ी महादेवपुर में हुआ, जहां लाखों श्रद्धालु पहुंचे हैं। गत रात्रि से ही श्रद्धालुओं के सकेतड़ी मंदिर में पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जल धारा के लिए विशेष रूप से गंगाजल/गड़वी की व्यवस्था की मंदिर मेें की गई थी। मंदिर के कपाट खुलते ही दूध, जल का प्रसाद श्रद्धालुओं में वितरित होना शुरू हो गया था।

कैथल में महाशिवरात्रि के अवसर पर मंदिरों में भारी भीड़ है। लोग मंदिरों में भोल शंकर का जलाभिषेक और दुग्‍धाभिषेक कर रहे हैं। शहर के श्री ग्यारह रुद्री शिव मंदिर में सुबह से ही शिव भक्तों की भीड़ उमड़ रही है।शहर के श्री अंबकेश्वर मंदिर, श्री नीलकंठ महादेव मंदिर, हनुमान वाटिका और खडालवा शिव मंदिर में भी पूजा-अर्चना करने के लिए भक्तों की कतार लगी है।

अंबाला छावनी के प्राचीन हाथी खाना मंदिर में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं सुबह से ही उमड़ पड़े। अंबाला शहर के जंडली शिव मंदिर में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ है। शहर के विराट मंदिर में भी श्रद्धालु भगवान श्‍ािव का जलाभिषेक और दुग्‍धाभिषेक कर रहे हैं।

धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में भी सुबह से ही शिव मंदिरों में श्रद्धालुआें की भीड़ लगी हुई है। लोग शिवालयों और मंदिरों में शिवलिंग का जलाभिषेक और दुग्‍धाभिषेक कर रहे हैं। धर्मनगरी के प्राचीन दुख भंजन महादेव मंदिर में सबसे ज्‍यादा भीड़ है। लोग यहां तड़के से कतारों में लगे हैं।

रोहतक के किलोई के प्राचीन मंदिर में भी श्रद्धालु सुबह से ही उमड़ पड़े। लोगों को काफी देर तक कतार में लगने के बाद भगवान महादेव का जलाभिषेक करने का मौका मिल रहा है। पानीपत में भी मंदिरों में लोगों की भीड़ है। शहर के सनातन धर्म मंदिर, कुटानी रोड स्थित अवध धाम मंदिर में श्रद्धालु शिवभक्ति में डूबे हैं और भोले शंकर का जलाभिषेक व दुग्‍धाभिषेक कर रहे हैं। करनाल में श्रद्धालु कर्णेश्वर मंदिर में भगवान श्‍ािव का जलाभिषेक कर रहे हैं। शहर के के सेक्टर छह सहित अन्‍य इलाकों में स्थित शिव मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी हुई है। हिसार में भी लोग शिवभक्ति में डूबे हुए हैं। लोग शिवालयों अौर मंदिरों में शिवलिंग का जला‍भिषेक कर रहे हैं।

विदेश