भोपाल/विदिशा.जिले के लटेरी में उपज के तुलने का 4 दिन से इंतजार कर रहे किसान की गुरुवार को मौत हो गई। 65 वर्षीय किसान चार दिन पहले चना लेकर मंडी आया था। तब से लाइन में लगकर चना की तुलाई का इंतजार कर रहा था। मौत से नाराज किसानों ने चक्काजाम कर दिया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी किसानों को मौके मनाने पहुंच गए हैं। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

- बताया जा रहा है कि किसान मूलचंद (65) चने लेकर लटेरी मंडी आया था। उसके चने की तुलाई चार दिन से नहीं हो पा रही थी।चार दिन से तुलाई का इंतजार कर रहा था, तपती धूप में किसान बेहाल था। गुरुवार को सुबह टॉयलेट से लौटा तो चक्कर खाकर ट्रैक्टर के पास गिर गया और वहीं उसकी मौत हो गई। किसान चार दिन से मंडी में रात गुजार रहा था।

लंबी कतार में कर रहे हैं इंतजार

- इसके बाद मंडी में हंगामा हो गया, किसानों की भीड़ जुट गई। मृतक किसान का बेटा अपनी पिता की डेड बॉडी के साथ रोता रहा। नाराज किसानों ने मृतक किसान की बॉडी को रखकर चक्काजाम कर दिया। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस और प्रशासन के लोग पहुंच गए हैं। वह किसान के परिजनों को समझाइश दे रहे हैं। साथ ही पूरे मामले की जांच शुरू हो गई है। किसानों ने कहा मंडी में सैकड़ों किसानों की लाइन लगी है। ट्रैक्टर अलग से लाए गए हैं, ऐसे में दो-दो दिन इंतजार करना पड़ रहा है।

चार दिन से लाइन में लगे थे पिता

-मृतक के बेटे ने बताया कि 4-5 दिन से हम फसल तुलाई के लिये लाइन में लगे थे, गुरुवार को पिताजी की मौत हो गई। पिता की मौत हो जाएगी, ऐसा पता होता तो फसल ही नही तुलाते। मंडी में किसानों की लंबी लाइन लगी है, तपती गर्मी में किसानों के बुरे हाल हैं।

एसपी को सूचना देने पर पहुंची पुलिस 
-किसान की मौत के एक घंटे बाद भी जब पुलिस नहीं आई तो विदिशा sp विनित कपूर को मामले की सूचना दी गई। तब जाकर पुलिस घटना स्थल पहुंची और शव अपने कब्जे में लिया। 
डॉक्टर ना होने की स्तिथि में शव को pm के लिए पुलिस वाहन से सिरोंज भेजा गया है। किसान की मौत से नाराज हुए किसानों ने मूलचन्द की मौत से स्थानीय प्रशासन को जमकर खरी खोटी सुनाई। घटना की जानकारी पर एसडीएम अशोक कुमार मांझी, तहसीलदार शत्रुघन चौहान सब इंस्पेक्टर बनबारी लाल मोके पर पहुंच गए।

विदेश