टाटा स्टील को चौथी तिमाही में 14,688 करोड़ का शुद्ध लाभ हुआ है। कंपनी प्रबंधन ने मार्च 2018 में समाप्त चौथी तिमाही के आंकड़े बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) को भेजा है।आंकड़ों के तहत टाटा स्टील को पिछले वित्तीय वर्ष की समान तिमाही में 1168.02 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। वहीं, चौथी तिमाही में कंपनी की कुल एकीकृत आय बढ़कर 36,407.19 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है, जो पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 35,457.06 करोड़ रुपये थी। वहीं, चौथी तिमाही में कंपनी का कुल खर्च 32 हजार 626.42 करोड़ रहा, जबकि पिछले वर्ष की समान तिमाही में यह 31 हजार 132.02 करोड़ रुपये था।

टाटा स्टील का प्रदर्शन बेहतर : एमडीटाटा स्टील के सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन का कहना है कि कंपनी ने बीते वित्तीय वर्ष में बेहतर प्रदर्शन किया। हमारी बेहतर क्रियान्वयन नीति और वैश्चिक स्तर पर मांग और आपूर्ति में संतुलन की वजह से यह मुकाम हासिल हुआ। कलिंगानगर प्लांट के विस्तार, मार्केटिंग, नेटवर्किंग और ब्रांड इक्विटी की मजबूती से हमारे भारतीय परिचालन ने बाजार की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। वहीं, उन्होंने कहा कि ब्रिटिश पेंशन योजना के पुनर्गठन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। थ्राइसेनक्रूप के साथ संयुक्त उपक्रम के लिए बातचीत अच्छे तरीके से आगे बढ़ रही है। हम मजबूत यूरोपिय पोर्टफोलियों बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

विदेश