नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 मई को रूस दौरे पर जाएंगे। यहां वे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अनौपचारिक मुलाकात में हिस्सा लेंगे। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच ये मुलाकात सोची शहर में होगी। बता दें कि इससे पहले मोदी 27-28 अप्रैल को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी अनौपचारिक मुलाकात कर चुके हैं। इस दौरान दोनों के बीच कई अहम मुद्दों पर बात हुई थी।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर बात करेंगे मोदी-पुतिन
- विदेश मंत्रालय ने कहा, “ये दोनों देशों के नेताओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विचार साझा करने का अहम मौका होगा। इस मुलाकात का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को और ज्यादा मजबूत करना है।”
- बयान में ये भी कहा गया कि दोनों नेता अपने-अपने देशों की विकास से जुड़ी प्राथमिकताओं और द्विपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे। 
- विदेश मंत्रालय ने कहा कि सोची में होेने वाली अनौपचारिक मुलाकात दोनों देशों के बीच बातचीत की परंपरा को उच्चतम स्तर तक ले जाने के लिए है।

जून 2017 में रूस गए थे मोदी
- मोदी पिछले साल दो दिवसीय दौरे पर रूस गए थे। यहां दोनों देशों के बीच रक्षा और व्यापार को लेकर कई करार हुए थे। दोनों ने परमाणु सहयोग समझौते पर भी हस्ताक्षर किए थे। इसके तहत रूस के साथ तमिलनाडु के कुडनकुलम में दो नई यूनिट्स लगाने पर सहमति बनी थी।

चीन में 24 घंटे के दौरान 6 बार मिले थे मोदी-जिनपिंग

-चीन के वुहान में मोदी-जिनपिंग के बीच सिर्फ 24 घंटे में 6 मुलाकातें हुई थीं। दोनों पहले हुबेई म्यूजियम में मिले थे। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत और डिनर पर भी दोनों की बातचीत हुई थी। जिनपिंग ने मोदी के लिए पहली बार प्रोटोकॉल भी तोड़ा था।
- अगले दिन मोदी और जिनपिंग की ईस्ट लेक के किनारे टहलते हुए मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों नेताओं ने साथ में नाव पर सैर और चाय पर चर्चा की। जिनपिंग ने मोदी को लंच भी दिया था।

विदेश