भोपाल। नई कलेक्टर गाइडलाइन 2018-19 में विसंगतियां दूर करने के नाम पर जमीनों के रेट बढ़ाने की तैयारी चल रही है। इसमें एमपी नगर सहित पुराने शहर में भी दाम बढ़ाया जाना प्रस्तावित है। इसके तहत एमपी नगर में रेलवे ट्रैक के सामने वाले हिस्से में बढ़ोतरी की जानी है।

वहीं, एमपी नगर जोन-1 और 2 में रेलवे पटरी के सामने वाले हिस्से को जोन-1 और 2 की मुख्य सड़क के बराबर रेट प्रस्तावित किए गए हैं। अभी तक रेलवे पटरी वाला हिस्सा शेष एमपी नगर में आता था। अब यहां भी दाम बढ़ाएं जाएंगे। इसी तरह नए और पुराने शहर में 38 से अधिक ऐसी लोकेशन हैं, जहां विसंगतियों के नाम पर दाम बढ़ने हैं। इसमें बैरागढ़ इलाके में चल रहे देवलोक और मथाई कॉलोनी में जमीन के दाम 11 हजार से बढ़ाकर 11,500 रुपए प्रति वर्गमीटर किए जा रहे हैं। इन 38 से ज्यादा लोकेशन पर 5 से 22 प्रतिशत तक रेटों की बढ़ोतरी होना लगभग तय है। क्योंकि रेट समान करने का फार्मूला लागू करने के बाद रेट खुद व खुद बढ़ जाएंगे और जमीन के दाम ज्यादा हो जाएंगे।

भौंरी और पतंजलि परिसर गोदरमऊ में बढ़ेंगे दाम

जानकारी के अनुसार पतंजलि परिसर गोदरमऊ में वर्तमान में 9000 रुपए वर्ग मीटर जमीन के दाम चल रहे हैं। जिसे विसंगति के नाम पर बढ़ाकर 10 हजार रुपए प्रति वर्ग मीटर किए जाना है। इसी तरह टाउन भौंरी में जहां 6500 रुपए वर्ग मीटर है, उसे 7 हजार रुपए वर्गमीटर किया जाना है। सर्वोदय कॉलोनी में 11 हजार की जगह 11,500, टीला जमालपुरा में 12 हजार से 13 हजार रुपए वर्गमीटर और डीआईजी बंगले में 45 हजार से 50 हजार रुपए वर्गमीटर तक जमीन के दाम तय किए जा सकते हैं।

24 फरवरी को जिला मूल्यांकन समिति को सौंपी जाएगी रिपोर्ट

बैठक में विसंगतियां दुरुस्त करने के लिए जमीनों के रेट बराबर करने पर निर्णय ले लिया गया है। तहसील हुजूर कार्यालय में विगत दिनों हुई बैठक के बाद अब 24 फरवरी को फाइनल रिपोर्ट बनाकर जिला मूल्यांकन समिति को सौंप दी जाएगी।

विदेश