काबुल। एजेंसी
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मतदाता एवं पहचान पत्र पंजीकरण केंद्र के बाहर हुए एक आत्मघाती हमले में कम से कम 54 लोगों की मौत हो गई और 110 से अधिक लोग घायल हुए हैं। चुनावी तैयारियों को बाधित करने के लिए किया गया यह ताजा हमला है। इससे यहां 20 अक्तूबर को होने वाले चुनावों की सुरक्षा की चिंता बढ़ गई है, जिसे अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनावों की परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है। काबुल पुलिस के प्रमुख दाऊद अमीन ने कहा, धमाका केंद्र के प्रवेश द्वार पर हुआ। यह एक आत्मघाती हमला था। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरुह ने बताया कि हमले में 54 लोग मारे गए हैं और अन्य 112 लोग घायल हुए हैं।  यह आंकड़ा कहां तक पहुंच सकता है इसकी तत्काल पुष्टि नहीं की जा सकती लेकिन एक पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि कम से कम 25 लोग मारे गए हैं और 70 अन्य घायल हैं। इससे पहले गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने हमले में नौ लोगों की मौत और 56 लोगों के घायल होने की बात कही थी। उनसे ताजा आंकड़ों के लिए तत्काल संपर्क नहीं किया जा सका। अफगानिस्तान अधिकारी अक्सर ऐसे हमलों में अलग-अलग आंकड़े देते हैं और उनपर पर्दा डालने की कोशिश भी करते हैं। मतदान केंद्र को निशाना बनाकर किया गया यह ताजा हमला है जो शहर के पश्चिम में शिया आबादी वाले क्षेत्र में हुआ। 

अफगानिस्तान में काफी समय से लंबित विधायी चुनावों के लिए 14 अप्रैल से पंजीकरण शुरू हुआ। चुनाव अधिकारियों ने माना है कि चुनावों के दौरान सुरक्षा चिंता का विषय है ।
 

विदेश