उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) दिलीप जावलकर के अनुसार इस वर्ष चार धाम यात्रा का विशेष आकर्षण मोबाइल ऐप है, जिसकी प्रक्रिया अंतिम चरण में है। उत्तराखंड के गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धामों की इसी महीने शुरू होने वाली यात्रा के लिए व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। चारधाम की यात्रा का विशेष आकर्षण मोबाइल एप होगा।

उन्होंने बताया कि चारधाम यात्रियों को उच्चतम स्तर की सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से स्वच्छता, पेयजल, स्वास्थ्य और सुरक्षा इंतजामों के साथ-साथ पर्यावरणीय प्रदूषण से बचने के लिए ठोस अपशिष्ट प्रबंधन हेतु भी विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। साथ ही इस बार पॉलिथीन के प्रयोग को पूर्णत: प्रतिबंधित किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि 18 अप्रैल को यमुनोत्री तथा गंगोत्री, 29 एवं 30 अप्रैल को क्रमशः  केदारनाथ धाम और बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।

 

इस वर्ष यात्रियों की सुविधा के लिए चारधाम मार्ग में 218 अस्थाई शौचालयों का निर्माण किया गया है तथा 234 सफाई कर्मचारियों की तैनाती सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस के माध्यम से करवाई जा रही है। इसके अतिरिक्त, यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों पर स्वच्छता, पेयजल आदि व्यवस्थाओं को सुचारु करने के लिए स्थानीय निकायों हेतु दो करोड़ रुपए की धनराशि उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने बताया कि यात्रा मार्ग के दौरान यात्रियों के साथ किसी प्रकार की ठगी की वारदात से बचने के लिए सभी होटलों एवं ढाबों को खाने-पीने की सामग्री की मूल्य सूची चस्पा करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

विदेश