मक्का मस्जिद पर आए फैसले पर कांग्रेस के कुछ नेताओं के द्वारा असहमति प्रकट करने पर भाजपा ने आड़े हाथों लिया है। भाजपा नेता संबित यात्रा ने कहा है कि कांग्रेस को 2जी पर आए फैसले पर कोई आपत्ति नहीं लेकिन मक्का मस्जिद पर क्यों।  कांग्रेस के कुछ नेताओं द्वारा ऐसा किया जा रहा है। भाजपा इस विषय पर कुछ टिपण्णी नहीं करेंगी क्योंकि न्यायपालिका के निर्णय को स्वीकारती है।न्यायपालिका एक स्वतंत्र निकाय है।

संबित पात्रा ने कहा, 'भाजपा मक्‍का मस्जिद ब्‍लास्‍ट मामले में कोर्ट के फैसले पर कोई टिप्‍पणी नहीं करेगी। हम भारतीय न्‍यायपालिका की कार्यप्रणाली पर कोई टिप्‍पणी नहीं करना चाहते हैं। वो एक स्वतंत्र निकाय है। लेकिन हम यहां कांग्रेस से यह पूछना चाहते हैं कि 2जी स्‍पेक्‍ट्रम मामले में कोर्ट का फैसला उन्‍हें सही लगता है, क्‍योंकि यह उनकी पार्टी के नेताओं के पक्ष में है। लेकिन मक्‍का मस्जिद ब्‍लास्‍ट मामले में आए कोर्ट के फैसले पर वह सवाल उठा रहे हैं। ये दोहरे मापदंड कांग्रेस क्‍यों अपना रही है।

साथ ही संबिता पात्रा ने कहा है कि पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम और सुशील शिंदे जैसे नेताओं ने भगवा आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल कर हिंदुओं का अपमान किया था। अब इसके लिए कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। भाजपा ने कोर्ट के इस फैसले को कर्नाटक चुनावों के लिए अपना हथियार बनाते हुए कहा कि वहां जनता कांग्रेस को हराकर इस अपमान का बदला चुकाएगी।

मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में मुख्य आरोपी स्वामी असीमानंद सहित सभी पांच आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया है। कोर्ट ने अपने फैैसले में सभी पांच आरोपियों देवेन्द्र गुप्ता, लोकेश शर्मा, स्वामी असीमानंद, भारत मोहनलाल और राजेन्द्र चौधरी को कोर्ट ने बरी कर दिया है। यह फैसला हैदराबाद की विशेष एएनआई कोर्ट ने सुनाया है।

विदेश