जोधपुर का आईआईटी कई मायनों देश के संस्थानों से अलग है। विश्वस्तरीय यह कैम्पस देखने पर किसी स्टेडियम की तरह लगता है। दूर-दूर तक केवल इमारते ही नज़र आती हैं। एक बार को देखने में लगता है कि यह केवल सामान्य इमारतों का समूह है लेकिन पास जाने पर विशेष सा लगने लगता है। राजस्थान में चलने वाली अांधियों से बचाने के लिए कैम्पस में विशेष तकनीक का इस्तेमाल किया है। कैम्पस के चारों ओर सीमेंट के पाइपनुमा ड्रम लगाए गए है।

कुछ विशेष बात

1. भवन के अंदर जोधपुर पत्थरों का इस्तेमाल किया गया है। इन पत्थरों पर नक्काशी की गई है।

2. कैम्पस को भूकम्परोधी बनाया गया है। 

3. बिजली, पानी और टेलीफोन के तार के लिए लगभग दस किमी लंबी सुरंग बनाई गई है।

4. ऐसी तकनीक की इस्तेमाल किया गया है कि आंधी आने पर कैंपस में मिट्टी नहीं गिरेंगी।

विदेश