लंदन । एजेंसी
लंदन में आगामी 16 अप्रैल से 20 अप्रैल तक कॉमनवेल्थ देशों का शिखर सम्मेलन होने जा रहा है। साल 2009 के बाद नरेंद्र मोदी ऐसे पहले प्रधानमंत्री होंगे जो इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। द्विवार्षिक राष्ट्रमंडल सरकार प्रमुख (सीएचओजीएम) सम्मेलन में 52 देशों के प्रतिनिधियों में केवल मोदी ही ऐसे हैं जिन्हें कॉमनवेल्थ सम्मेलन के दौरान सफर के लिए लग्जरी सुविधाएं दी जाएंगी। जबकि वहां मौजूद बाकी प्रतिनिधि कोच से ही सफर करेंगे। 
कॉमनवेल्थ में बड़ी भूमिका की तैयारी में भारत
भारत कॉमनवेल्थ में एक नई जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार है। यह एक बहुपक्षीय समूह है जो भारत की वैश्विक आकांक्षाओं के लिए काफी अच्छा काम कर सकता है। कॉमनवेल्थ में चीन की मौजूदगी नहीं है ऐसे में भारत के पास मौका है कि वह मजबूत प्रतिनिधि के रूप में सामने आकर नेतृत्व कर सके। भारत कॉमनवेल्थ को एक नया आयाम देने में मददगार साबित हो सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कॉमनवेल्थ में भारत के वित्तीय योगदान को लगभग दोगुना करने वाले हैं। मोदी लंदन में कॉमनवेल्थ हेड्स गवर्नमेंट मीटिंग (सीएचओजीएम) में हिस्सा लेने वाले हैं। इससे यह संकेत दिया जाएगा कि भारत ज्यादा और बड़ी जिम्मेदारियां उठाने के लिए तैयार है। इससे भारत के कॉमनवेल्थ में महत्वपूर्ण शक्ति बनकर उभरने के आसार हैं। यह खबर भी है कि मोदी की मेजबानी के लिए ब्रिटेन ने खास इंतजाम किए हैं। जिसकी वजह से अटकलें हैं कि भारत को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है। कॉमनवेल्थ से मिलने वाली बड़ी जिम्मेदारियों को लेकर दिल्ली में तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। साल 2009 के बाद यह पहला मौका है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री सीएचओजीएम में हिस्सा ले रहा है। माल्टा में हुई आखिरी समिट मोदी ने खुद ही छोड़ दी थी। ब्रिटेन में भारत के उप-उच्चायुक्त दिनेश पटनायक ने कहा- भारत का प्रतिनिधित्व कई वैश्विक संगठनों में बढ़ा और कॉमनवेल्थ भी उनमें से एक है। कॉमनवेल्थ में शामिल एक सबसे बड़े देश के रूप में भारत अंतर्राष्ट्रीय मंच पर नेतृत्व कर बड़ी भूमिका निभाने का इच्छुक है। उम्मीद है कि कॉमनवेल्थ में भारत की जिम्मेदारियां बढ़ेंगी। 
खुद की कार से करेंगे सफर
कहा जा रहा है कि अन्य देशों के प्रतिनिधि सम्मेलन के दौरान होने वाले विभिन्न इवेंट्स में कोच से ही सफर करेंगे जबकि पीएम मोदी विशेष सुविधाएं दी जा रही हैं वह अकेले ऐसे प्रतिनिधि होंगे जिन्हें  सफर करने के लिए लिमोजिन गाड़ी दी जा रही है।
करेंगे 'भारत की बात, सबके साथÓ
प्रधानमंत्री लंदन में 18 अप्रैल की रात 'भारत की बात, सबके साथÓ नामक शीर्षक से एक कार्यक्रम संबोधित करेंगे। यह एक अनोखा कार्यक्रम होगा जिसमें मोदी लाइव संवाद करेंगे। साथ ही इस कार्यक्रम के दौरान दुनियाभर के 1,500 एनआरआई को पीएम मोदी से लाइव सवाल पूछने का मौका मिलेगा। कार्यक्रम का टेलीवीजन पर सीधा प्रसारण होगा। 

सवाल पूछने के लिए लोगों को सोशल मीडिया पर अपने सवालों के साथ सेल्फी विडियो पोस्ट करने होंगे।
प्रिंस चाल्र्स के कार्यक्रम में होंगे सम्मिलित
18 अप्रैल को ब्रिटेन के प्रिंस पीएम मोदी के लिए एक स्पेशल टेक इवेंट का आयोजन करेंगे। बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम में भारत और यूके के तकनीकी सहयोग (टेक कोलाबोरेशन) को शोकेस किया जाएगा। इस कार्यक्रम में पीएम भी सम्मिलित होंगे। वहीं प्रिंस चार्ल्स आयोजन स्थल तक टाटा की इलैक्ट्रिक जेगुआर से पहुंचेंगे। 
 

विदेश