मुंबई।  एजेंसीं
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक  मोहन भागवत ने राम मंदिर को लेकर उन्होंने कहा है कि इस बात में कोई शक नहीं है कि राम मंदिर जहां था, वहीं बनेगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर राम मंदिर का निर्माण नहीं हुआ तो भारतीय संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी। 
मंदिर का नहीं हुआ निर्माण तो संस्कृति की जड़ें होंगी कमजोर
आपको बता दें कि भागवत रविवार को पालघर जिले के दहानू में विराट हिंदू सम्मेलन में शामिल होने के लिए पहुंचे थे, जहां उन्होंने राम मंदिर को लेकर कई बड़ी बातें कहीं। सरसंघचालक ने कहा कि भारत में मुस्लिम समुदाय ने राम मंदिर को नहीं तोड़ा है, भारतीय नागरिक कभी ऐसा नहीं कर सकते हैं, यह विदेशियों ने भारतीयों का मनोबल तोडऩे के लिए किया है। अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं किया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी। 
यह मंदिर नहीं पहचान का प्रतीक है:भागवत
सर संघचालक मोहन भागवत ने माना कि अयोध्या में मंदिर तोडऩे का दुस्साहस विदेशियों ने किया था, जाहिर है कि भारतीय नागरिक इस तरह की हरकत नहीं कर सकते। मोहन भागवत ने कहा कि आज हम आजाद हैं और हमें फिर से अधिकार है कि राम मंदिर का फिर से निर्माण कर सकें। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ मंदिर नहीं था बल्कि हमारी पहचान का प्रतीक था, इसमे कोई शक नहीं है कि राम मंदिर का फिर से निर्माण होगा जहां पहले वह था। 

विदेश