इस्लामाबाद। पाकिस्तान में सबसे बड़े हवाई अड्डा को बनने में 11 साल का वक्त लग गया, बावजूद इसके हवाई अड्डा पर अभी भी पूरी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाई हैं। इन सबके बीच सुरक्षा चिंताओं को दरकिनार करते हुए इस्लामाबाद ने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का 20 अप्रैल को उद्घाटन करने का फैसला किया गया है।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, सरकार ने राजनीतिक लाभ के लिए हवाई अड्डे का उद्घाटन जल्दी करने का फैसला किया है। प्रोजेक्ट 2007 में लॉन्च किया गया था और इसे 2010 में पूरा हो जाना था। लेकिन, इसे तैयार होने में आठ साल अधिक लग गए

हवाई अड्डे पर पीने के पानी की सुविधा या आसपास रहने के लिए होटल की व्यवस्था भी नहीं है। सरकार ने पहले भी उद्घाटन की तिथि निर्धारित की थी, लेकिन काम पूरा न होने पर इसे टाल दिया गया। लेकिन, अब सरकार ने तमाम कमियों के बावजूद इसका उद्घाटन करने का फैसला किया है।

90 लाख यात्री आ सकेंगे - 

इस हवाई अड्डे पर सालाना 90 लाख यात्री आ सकेंगे, हालांकि बाद में इसकी क्षमता ब़़ढाई जा सकेगी। पुराने हवाई अड्डे पर जहां 1400 यात्रियों की बैठने की व्यवस्था थी, वहीं नए हवाई अड्डे पर पांच हजार से अधिक लोग बैठ सकते हैं।

विदेश