स्वदेश संवाददाता। भोपाल
भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा द्वारा आयोजित किसान सम्मान यात्रा का आज पूरे प्रदेश के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, सांसद, विधायक, जनप्रतिनिधि एवं वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने उन्नतशील किसानों का सम्मान कर यात्रा का समापन किया। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने खंडवा संसदीय क्षेत्र विधानसभा बड़वाह के ग्राम कानापुर में किसान सम्मान यात्रा का समापन करते हुए कहा कि प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार ने किसानों को बेमिसाल तोहफा दिया है। गेहूॅ का 2000 रू. क्विंटल मूल्य आश्वस्त करके किसानों की खुशहाली का मार्ग प्रशस्त किया है। पिछले वर्ष जो गेहूं और धान बेची जा चुकी है, उस पर भी बोनस देकर राज्य सरकार ने किसानों के हित में खजाना खोल दिया है। किसानों की मेहनत से मध्यप्रदेश पांचवी बार कृषि कर्मण सम्मान से गौरवान्वित हुआ है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पिछले तेरह-चैदह वर्षों में जितना उल्लेखनीय कार्य प्रदेश में किया गया, उतना पिछले 6 दशकों में नहीं हुआ। यही कारण है कि जीरो प्रतिशत ब्याज पर कर्ज के बावजूद जो किसान डिफाल्टर हो गये थे, उनके ब्याज का भुगतान करने का जिम्मा भी शिवराज सिंह सरकार ने उठाकर डिफाल्टर किसानों को नियमित बना दिया।  उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने पिछले वर्षों में कृषि के क्षेत्र में उदारतापूर्वक फैसले लिये, जो सिंचाई रकबा साढ़े 7 लाख हेक्टर था उसे 40 लाख हेक्टर करके हर खेत को पानी पहुंचाया। प्रदेश ने हरित क्रांति के लिए जल क्रांति को सफल बनाने का बीड़ा उठाया है। नंदकुमार सिंह चौहान ने सम्मान यात्रा के समापन के अवसर पर निमाड़ क्षेत्र के प्रगतिशील किसानों, दुग्ध उत्पादकों, पेशेवर दस्तकारों का शाल श्री फल से सम्मान किया।

आदिवासी अंचल में किसान सम्मान
किसान सम्मान यात्रा के समापन के दिन आदिवासी अंचल में यात्रा आकर्षण का केंद्र रहा। मंडला जिले के मुआ, बिछिया, निवास में सम्मान यात्रा का समापन वरिष्ठ नेता फग्गनसिंह कुलस्ते, श्रीमती संपत्तिया उईके, दर्शन सिंह चैधरी ने आदिवासी कृषकों का सम्मान कर किया। सिंगरौली में किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार मस्त, मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीर सिंह रावत एवं सांसद श्रीमती रिती पाठक ने प्रगतिशील किसानों को शाल श्रीफल भेंट कर उनका सम्मान किया। वीरेन्द्र कुमार मस्त ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दृढ़ इच्छाशक्ति कं साथ किसानों कं लिये कई अभिनव योजनाएँ प्रारंभ की। उसका परिणाम है कि आज प्रदेश कृषि कं क्षेत्र में देश में अग्रिम पंक्ति में आ खड़ा हुआ है। प्रदेश ने कृषि उत्पादन और उत्पादकता में कीर्तिमान बनाया है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश की तस्वीर और किसानों की तकदीर बदली है। कृषि क्षेत्र में 55 वर्षो में जितना काम नहीं हुआ उतना काम मध्यप्रदेश में पिछले 14 वर्षो में हुआ है।

विदेश