स्वदेश संवाददाता। भोपाल
देश में रेलवे में अच्छे और सराहनीय कार्य करने वालों को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। राष्ट्रीय पुरस्कार रेलवे कर्मचारियों-अधिकारियों को व्यक्तिगत सराहनीय कार्य जो जनहित से जुड़े होते हैं। भोपाल में रेलवे की 14वी राष्ट्रीय प्रदर्शनी लगाई गई है। इससे पहले दिल्ली में 13 वार राष्ट्रीय प्रदर्शनी को लगाया गया है। ट्रेनों में डिब्बों की संख्या 20-22 के स्थान पर 24 की प्रक्रिया शुरू की जा रही है, ताकि लोगों को रेल यात्रा करने में समुचित स्थान मिल सके। उक्त बात रेलवे बोर्ड के चेयरमेन अश्विनी लोहानी ने भोपाल हाट में तीन दिवसीय लगाई गई रेलवे की राष्ट्रीय प्रदर्शनी के उद्घाटन के पश्चात मीडिया वार्ता करते हुए बताई। इस अवसर पर रेलवे बोर्ड के अधिकारीगण विशेषतौर पर उपस्थित थे। 
मांग के आधार पर कर रहे विकास
श्री लोहानी ने बताया कि देश के सबसे बड़े नेटवर्क को आधुनिकता के साथ जोडऩे और मांग के आधार पर इंफ्राट्रक्चर का विकास नहीं हो पा रहा है। मांग के आधार पर इंफ्राटेक्चर का विकास का प्रयास लगातार किया जा रहा है। इंफ्राटेक्चर में दूरी कम करने पर ज्यादा से ज्याद काम किया जा रहा है। बताया कि बीना-निशातपुर-भोपाल तीसरी लाईन का कार्य भी तेज गति के साथ किया जा रहा है। भोपाल-खजुराहो-भोपाल महामना एक्सप्रेस का समय भी परिवर्तित किया जा रहा है। महामना एक्सप्रेस का समय खजुराहो से सुबह और भोपाल से शायं के समय शीघ्र ही परिवर्तित कर दिया जाएगा।  
सांस्कृतिक संध्या का आयोजन
प्रदर्शनी के साथ ही तीनों दिनों तक भव्य सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन भोपाल हाट में किया जायेगा।इसके साथ ही प्रदर्शनी के मुख्य आकर्षण के रूप में सेल्फी प्वाइंट भी रखे गये हैं। इसी तरह इस प्रदर्शनी में कई नये आयाम हैं जैसे मुख्य द्वार में विक्टोरिया टर्मिनल्स की झलक, अन्य द्वार में सॉची स्तूप की झलक आदि। यह प्रदर्शनी तीनों दिनों तक पूर्णत: निशुल्क है।

पश्चिम मध्य रेल होगा पुरस्कृत
श्री लोहानी ने बताया कि मप्र विधानसभा के सभागार में पश्चिम मध्य रेल सुरक्षा और मेडीकल के क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य करने पर 63वें इंडियन रेलवे वीक एवार्ड-2018 से पुरस्कृत किया जाएगा। सुरक्षा और मेडीकल पर उन्हे शील्ड प्रदान की जाएगी। उल्लेखनीय है कि रेलवे का राष्ट्रीय रेलवे सप्ताह समारोह 16 अप्रैल को विधानसभा हॉल में होगा। इसके लिए रेलवे बोर्ड समेत सभी जोन के अधिकारी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 113 रेलकर्मियों को उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार से नवाजा जाएगा। कार्यक्रम में रेल मंत्री पीयूष गोयल, रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समारोह में विशेषतौर पर उपस्थित रहेंगे।


2022 तक आ जाएगी बुलेट ट्रेन
इस अवसर पर डायरेक्टर इंफार्मेशन पब्लिसिटी रेलवे बोर्ड नईदिल्ली के वेद प्रकाश ने बताया कि भोपाल हाट में लगाई गई राष्ट्रीय प्रदर्शनी इसीलिए खास प्रदर्शनी है, क्योकि देश के 17 जोन के लोग कभी एक मंच पर नहीं आ सके हैं और भोपाल में राष्ट्रीय प्रदर्शनी में 17 जोन के लोग एक मंच पर आए हैं और यह पहली वार हुआ है। बताया कि देश में बुलेट ट्रेन पर कार्य तेज गति से चल रहा है और वर्ष 2022 तक बुलेट ट्रेन आने का सपना साकार हो जाएगा। 

विदेश