नई दिल्ली : कावेरी जल बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद के बाद आईपीएल के मैचों को चेन्नई से हटाना पड़ा. धोनी की टीम चेन्नई के लिए अब पुणे होम ग्राउंड होगा. बाकी के मैच टीम पुणे में खेलेगी. पुणे में क्रिकेट फैंस के लिए ये बड़ी खुश खबरी रही, लेकिन अब उन्हें एक नुकसान भी होने जा रहा है. लीग मैचों के बाद पुणे में जो प्लेऑफ मुकाबले होने वाले थे, वह अब दूसरी जगह कराए जा सकते हैं.

बीसीसीआई 23 और 25 मई को पुणे में इंडियन प्रीमियर लीग के प्रस्तावित प्लेऑफ मैचों को स्थानांतरित कर सकता है, क्योंकि महाराष्ट्र क्रिकेट संघ अपने इस स्टेडियम में चेन्नई के छह लीग मैचों की मेजबानी करेगा. फिलहाल कोलकाता और राजकोट इन प्ले आफ मैचों की मेजबानी की दौड़ में सबसे आगे है. यह पता चला है कि आईपीएल संचालन परिषद सभी स्थलों पर मैचों के उचित वितरण की नीति का पालन करना चाहता है.

पुणे को चेन्नई के छह मैचों की मेजबानी मिलने के बाद यह फैसला लिया गया कि निष्पक्षता बनाए रखने के लिए बीसीसीआई 23 मई को खेले जाने वाले एलिमिनेटर और 25 मई को खेले जाने वाले क्वालीफायर की मेजबानी किसी अन्य स्थल को देने का फैसला करेगा.

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया, ‘अभी तक वैकल्पिक स्थल के बारे में फैसला नहीं हुआ है. इन दोनों प्लेऑफ मैचों का आयोजन कोलकाता या राजकोट में होगा. इस पर जल्द ही फैसला होगा.’

एमसीए अध्यक्ष के अभय आप्टे से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘आईपीएल संचालन परिषद से अभी तक हमें कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है. प्ले ऑफ के स्थानांतरित होने से नाराज होने जैसा कुछ नहीं है. सभी इकाइयां बीसीसीआई के तत्वावधान में काम करती हैं. हमें चेन्नई के मैचों की मेजबानी मिली, क्योंकि वहां परेशानी थी.’

कैब ( बंगाल क्रिकेट संघ ) के संयुक्त सचिव अभिषेक डालमिया की भी यही राय है. डालमिया ने कहा, "हम किसी के आवंटित मैचों को नहीं लेना चाहते हैं, लेकिन अगर मौका मिलता है तो हम हमेशा तैयार हैं."

विदेश