नई दिल्ली: टेलीकॉम इंडस्ट्री में धमाल मचाने के बाद अब रिलायंस जियो एक और बड़ा धमाल करने जा रही है. अब कंपनी की तैयारी सिम कार्ड वाला लैपटॉप लॉन्च करने की है. दरअसल, कंपनी अपना ऐवरेज रेवेन्यू पर यूजर (ARPU) बढ़ाने की कोशिश कर रही है. उम्मीद है कि सिम कार्ड वाले लैपटॉप से जियो को अपना ARPU बढ़ाने में मदद मिलेगी. रिलायंस जियो ने पिछले साल ही अपना 4जी फीचर फोन लॉन्च किया था.जियो के लॉन्च से ही रिलायंस को तीसरी तिमाही में 500 करोड़ का मुनाफा हुआ था.

क्वालकॉम के साथ बनाएगी लैपटॉप
मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली जियो वाली अमेरिका की बड़ी चिप निर्माता कंपनी क्वालकॉम के साथ बातचीत कर रही है. ये लैपटॉप विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलेंगे और भारतीय बाजार के लिए इन्हें बिल्ट-इन सेल्युलर कनेक्शन के साथ लॉन्च किया जाएगा. क्वालकॉम पहले ही 4जी फीचर फोन के लिए जियो और रिलायंस रिटेल के साथ काम कर रही है. 

सेल्युलर कनेक्टिविटी मिलेगी
क्वालकॉम टेक्नॉलजीज के प्रॉडक्ट मैनेजमेंट, सीनियर डायरेक्टर Miguel Nunes ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया, 'हम जियो के साथ बातचीत कर रहे हैं. वो हमसे डिवाइस लेकर इसे डेटा और कॉन्टेंट के साथ जोड़ सकते हैं.' इसके अलावा, चिपनिर्माता Internet of Things (IoT) ब्रैंड स्मार्ट्रोन के साथ सेल्युलर कनेक्टिविटी वाले स्नैपड्रैगन 835 वाले लैपटॉप लाने पर भी बात कर रही है. स्मार्ट्रोन ने इस खबर की पुष्टि कर दी है.

दुनिया भर में टेक्नोलॉजी की मांग
क्वालकॉम पहले ही दुनिया की दिग्गज कंपनियां एचपी, आसुस और लेनोवो जैसे लैपटॉप बनाने वाली कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रही है. इसके अलावा दुनिया के 14 बड़े ऑपरेटर्स ने भी इस नई पहल के साथ जुड़ने में रुचि दिखाई है. इसमें वेरिजोन, AT&T और स्प्रिन्ट्स जैसी कंपनियां शामिल हैं. इसके अलावा जर्मनी, इटली, यूके, फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के ऑपरेटर भी इस तकनीक को चाहते हैं.

जियो ने नहीं की पुष्टि
हालांकि, जियो ने अभी तक इस खबर की पुष्टि नहीं की है. आपको बता दें, जियो पहले ही देशभर में रिलायंस रिटेल के जरिए वाईफाई डॉंगल्स, लाइफ स्मार्टफोन्स और 4जी फीचर फोन बेचती है. काउंटरपॉइंट रिसर्च के रिसर्च डायरेक्टर नील शाह के मुताबिक, सिम कार्ड वाले लैपटॉप से ऑपरेटर्स को ARPU बढ़ाने में मदद मिलेगी. काउंटरपॉइंट के डेटा के मुताबिक, भारत में करीब पचास लाख लैपटॉप हर साल बेचे जाते हैं. इनमें से अधिकतर को होम या पब्लिक वाई-फाई के जरिए कनेक्ट किया जाता है.

विदेश