प्योंगयांग: परमाणु निरस्त्रीकरण पर वार्ता के लिए उत्तर कोरिया तैयार हो गया है, उसने इस बारे में ट्रंप प्रशासन को भी जानकारी दी है. उत्तर कोरिया ने ट्रंप प्रशासन से कहा कि वह परमाणु हथियारों पर पाबंदी लगाने संबंधी वार्ता में शामिल होना चाहता है. अमेरिका ने भी बात की पुष्टि करते हुए कहा उत्तर कोरिया निरस्त्रीकरण पर चर्चा के लिए तैयार है.  इससे पहले संयुक्त राष्ट्र के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि बिगड़ती हुई सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच शिखर वार्ता की मंशा निरस्त्रीकरण के क्षेत्र में प्रगति के संकेत देते हैं.

निरस्त्रीकरण मामले के उप उच्च प्रतिनिधि थॉमस मारक्रम ने बीते 2 अप्रैल को संयुक्त राष्ट्र परमाणु निरस्त्रीकरण आयोग के 2018 सत्र को संबोधित करते हुए कहा था, ‘‘ऐसे वक्त में जब शीत युद्ध के बाद से परमाणु हथियार पर वैश्विक चिंताएं अपने चरम पर हैं, निरस्त्रीकरण तथा हथियारों पर नियंत्रण के लिए कदम उठाना पहले से अधिक अहम हो गया है.’’

उन्होंने कहा था कि हथियार नियंत्रण क्षमता को कम करने तथा अंतरराष्ट्रीय रक्षा तथा सुरक्षा पर नकारात्मक प्रभाव डालने वाले ट्रेंड में सिंतबर से कोई बदलाव नहीं आया है. हाल ही में प्रगति के लक्षण दिखाई दिए हैं जो इस ओर इशारा करते हैं कि आयोग कहां उत्कृष्ट और रचनात्मक सहयोग दे सकता है.

चीन में हाल में हुई बातचीत में उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण पर प्रतिबद्धता की रिपोर्ट पर संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी ने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि ये सकारात्मक प्रगति सार्थक वार्ता की लंबी प्रक्रिया की शुरुआत करेगी जो आगे चल कर कोरियाई प्रायद्वीप में सतत शांति तथा परमाणु निरस्त्रीकरण में सहायक होगी.’’

विदेश