आईपीएल सीजन 11 की शुरुआत कल (7 अप्रैल) मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के दमदार मुकाबले के साथ होगी। ऐसा माना जा रहा है आईपीएल के रोमांच की झलक इसी मैच में लोगों को देखने को मिल सकती है क्योंकि मुंबई और चेन्नई की टीमें इस टूर्नामेंट में चिर प्रतिद्वंद्वी मानी जाती हैं। सात अप्रैल यानि कल शनिवार को ये मैच शाम 8 बजे, IPL ओपनिंग सेरेमनी खत्म होने के बाद शुरू होगा।

इस आईपीएल में सबकी नजरें चेन्नई सुपर किंग्स पर टिकी हुई हैं, क्योंकि दो बार की ये चैंपियन टीम 2 साल के बाद इस टूर्नामेंट में वापसी करने जा रही है। इसके साथ ही दर्शक अपने फेवरेट एम एस धौनी को पीली जर्सी में फिर एक बार कप्तानी करते हुए मैदान में देखने को बेकरार हैं। लेकिन ऐसे में सवाल ये उठता है कि टूर्नामेंट की फेवरेट CSK और अपना टाइटल बचाने के लिए उतरने वाली गत चैंपियन MI में से कौन इस मैच में ज्यादा दमदार साबित होगा। आइए जानते हैं दोनों की टीमों की क्या है ताकत और कहां हैं कमजोर। अभी तक दोनों टीमों के बीच 22 मैच खेले गए हैं, जिसमें से 10 में चेन्नई को जीत मिली है, जबकि 12 मैच मुंबई ने जीते हैं। 

अनुभव से सराबोर है CSK
चेन्नई सुपर किंग्स भले ही दो साल से आईपीएल में नहीं खेली है, लेकिन ये सब जानते हैं कि IPL के इतिहास में धौनी की ब्रिगेड ने एक से एक कारनामे किए हैं। मौजूदा चेन्नई की टीम पर नजर डालें तो इसमें टैलेंट के साथ-साथ अनुभव भी काफी नजर आता है। खुद धौनी के अलावा, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो, शेन वॉटसन, हरभजन सिंह और फाफ डु प्लेसी, ये तमाम ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें इंटरनेशनल ही नहीं आईपीएल मैचों का भी ढेर सारा अनुभव है। इसी एक्सपीयरंस के चलते चेन्नई किसी भी मैच को अपनी ओर पलटने के काबिल है।

बैटिंग और बॉलिंग में किसका पलड़ा है भारी
CSK की बात करें तो उसमें रैना, वॉटसन, ब्रावो और डु प्लेसी जैसे घातक बल्लेबाज हैं जो फॉर्म में आने पर किसी भी बॉलिंग लाइन-अप को ध्वस्त कर सकते हैं। इसके अलावा बिलिंग्स, जडेजा, रायडू और धौनी टीम की बैटिंग को ताकत दे सकते हैं। वहीं मुंबई की बात करें तो इसमें कप्तान रोहित शर्मा सबसे शानदार फॉर्म में हैं। इसके अलावा टीम के पास पोलार्ड, डुमिनी और पांड्या बंधु जैसे बल्लेबाज हैं जो किसी भी समय गेम पलट सकते हैं। इसके साथ ही अंडर19 टीम के स्टार ईशान किशन भी बल्लेबाजी में मुंबई की बड़ी ताकत साबित हो सकते हैं।

बॉलिंग की बात करें तो चेन्नई के पास सैंटनर, शार्दुल, एनगिडी, ब्रावो, हरभजन जैसे दमदार ऑप्शन हैं। साथ ही टीम के पास दीपक चाहर जैसा घातक युवा बॉलर भी मौजूद है। उधर मुंबई की टीम के पास ज्यादा बेहतर बॉलिंग ऑप्शन हैं। जस्प्रीत बुमराह और मुस्तफिजुर रहमान दो ऐसे गेंदबाज हैं जो आईपीएल स्पेशलिस्ट माने जाते हैं। इसके अलावा मुंबई के पास धनंजय, कमिंस मेकलेग्नन और तरे जैसे काबिल गेंदबाज भी मौजूद हैं।

चेन्नई की टीम : के आसिफ, एम एस धौनी, सैम बिलिंग्स, चैतन्य बिशनोई, ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, फाफ डु प्लेसी, हरभजन सिंह, इमरान ताहिर, रवींद्र जडेजा, केदार जाधव, नारायण जगदीसन, मोनू कुमार, क्षितिज शर्मा, सुरेश रैना, लुंगी एनगिडी, मिशेल सैंटनर , अंबाती रायडू, कर्न शर्मा, कनिश्क सेठ, ध्रुव शोरे, शार्दुल ठाकुर, मुरली विजय, शेन वॉटसन, मार्क वुड 

मुंबई की टीम: रोहित शर्मा, जस्प्रीत बुमराह, पैट कमिंस, राहुल चाहर, बेन कटिंग, अकिला धनंजय, जेपी डुमिनी, ईशान किशन, सिद्देश लैड, इविन लुइस, शरद लुंबा, मयंक मार्कंडे, मिशेल मेकलेग्नन, मोहसिन खान, मुस्तफिजुर रहमान,  एम डी निधीश, क्रुणाल पांड्या, हार्दिक पांड्या, केरोन पोलार्ड, अनुकूल रॉय, प्रदीप सांगवान, तजविंदर सिंह, सौरभ तिवारी, आदित्य तरे और सूर्यकुमार यादव 
 

विदेश