भोपाल: राष्ट्रपति महात्मा गांधी जीवन भर स्वच्छता का संदेश देते रहे, लेकिन आजादी के करीब आठ दशक बाद भी हम उनकी कही बातों को अपनी आदतों में नहीं ला सके हैं. केंद्र की सत्ता संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लगातार देशवासियों से स्वच्छता को अपनी आदत बनाने की अपील करते रहे हैं. इन सब प्रयासों के बावजूद हर अपनी आदतों में बदलाव नहीं कर पा रहे हैं. स्वच्छता अभियान का कारगर बनाने के लिए अब जुर्माना लगाने तक की नौबत आ रही है. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित जेपी अस्पताल प्रशासन ने भी यहां स्वच्छता अभियान को सफल बनाने के लिए जुमार्ना लगाने का फैसला लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेपी अस्पताल प्रशासन ने आदेश जारी किया है कि वह अस्पताल परिसर में बेतरतीब तरीके से थूकने वालों पर सख्त कार्रवाई करेगी. खास गुटखा खाकर थूकने वालों पर कड़ी नजर रखी जाएगी.

अस्पताल प्रशासन की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि थूकते पकड़े जाने पर तत्काल प्रभाव से 200 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा. इतना ही नहीं थूकने वाले व्यक्ति को पकड़कर लाने वाले व्यक्ति को 50 रुपए का इनाम दिया जाएगा. रोगी कल्याण समिति ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

कलेक्टर सुदाम पी खाडे ने अस्पताल प्रबंधन से कहा है कि यदि कोई भी व्यक्ति अस्पताल में इस तरह की हरकत करता दिखाई देता है तो उसकी जानकारी सीधे सिविल सर्जन को दी जाए. सीएमएचओ डॉ. सुधीर जैसानी का कहना है कि बाजार, बस स्टैंड, रेलवे स्टैंड, एयरपोर्ट सहित अन्य जगहों पर गुटखे की पीक थूकने वाले 8 हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ सालभर में कार्रवाई की गई है. 50 रुपए से लेकर 200 रुपए तक जुर्माना लगाया गया है. लोगों से यह भी अपील की जा रही है कि वह ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करवाने में स्वास्थ्य विभाग की मदद करें.

विदेश