फेसबुक से गलत तरीकों का इस्तेमाल कर के डेटा एनालिस्ट कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका पर 5 करोड़ यूजर्स की जानकारियों को अपने ग्राहकों के लिए उपयोग करने का आरोप लगा है. आप सोच रहे होंगे कि ये कौन से तरीके हैं जिससे इस तरह की कंपनियां हमारे डेटा को चुरा लेती हैं और उनका इस्तेमाल भारी भरकम पैसा लेकर अपने ग्राहकों के लिए करती हैं.

हम रोज फेसबुक पर ऐसी चीजों से दो-चार होते हैं जिसमें आपके डेटा को चुराने का गंदा खेल चल रहा होता है. भारत में ज्यादात्तर आप ये चेक करने में कि शादी किससे होगी, साठ साल बाद कैसे दिखेंगे, आप कौन से हीरो की तरह लगते हैं और कब मरेंगे, जानने के चक्कर में अपनी जानकारियों को किसी थर्ड पार्टी को बड़ी आसानी से दे देते हैं.

इसके अलावा जानकारियों को चुराने का दूसरा तरीका होता है फेसबुक के जरिए तमाम तरह के ऐप से आपको लॉगइन करा कर. आप अंजाने में लॉगइन करते समय अपनी जानकारियों के साथ-साथ अपने फ्रेंडलिस्ट के लोगों के बारे में भी जानकारी बड़ी आसानी से मुहैया करा देते हैं.

इस क्षेत्र से जुड़े लोग बताते हैं कि दूसरा तरीका पहले तरीके से ज्यादा कारगर होता है. दूसरे तरीके में आप शक भी नहीं करते और काम बहुत ही आसानी से हो जाता है.

इन्हीं जानकारियों के जरिए आपके देश के चुनाव को भी प्रभावित किया जा सकता है. कैंब्रिज एनालिटिका पर भी यही आरोप है कि उसने पांच करोड़ लोगों के डेटा के जरिए अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित किया है.

इन सब चीजों से कैसे बचें

सबसे पहले तो किससे शादी होगी और कब मरेंगे जानने वाला खेल फेसबुक पर खेलना बंद कर दीजिए. दूसरा आपने अपने फेसबुक के जरिए कितनी ऐप को लॉगइन किया है उसकी जांच करें. इन ऐप में आपको अगर कुछ गड़बड़ लगे तो उन्हें हटा दें. सारे ऐप डेटा चोरी करने वाले ही नहीं होते हैं.

मसलन, आपने मैसेंजर और इंस्टाग्राम को भी अपने फेसबुक के जरिए ही लॉगइन किया होगा, तो ऐसे ऐप से खतरा नहीं है. लेकिन गेमिंग ऐप, क्विज ऐप के साथ-साथ और भी कई तरीके हैं जिसके जरिए आपके निजता को खतरा पहुंचाया जा सकता है.

कैसे करें फेसबुक से लॉगइन ऐप का पता

- आपके फेसबुक पेज के सबसे टॉप में दाहिने तरफ एक छोटा डाउन एरो दिखेगा. उसे क्लिक करें.

- उसे क्लिक करने के बाद आप सेटिंग में जाएं.

- सेटिंग में जाने के बाद आपको बाई तरफ ऐप का ऑप्शन दिखेगा.

- ऐप के ऑप्शन पर क्लिक करें.

- आप जैसे ही इसे क्लिक करेंगे आपको पता चल जाएगा कि आपने कितने ऐप को फेसबुक के जरिए लॉगइन किया है.

- जिन ऐप से आपको खतरा लगता है उन्हें हटा दें

- जब आप इन ऐप पर क्लिक करेंगे तो रिमूव का ऑप्शन आएगा, तब आप आसानी से इन ऐप को हटा सकते हैं.

आगे से इन बातों का रखे ध्यान

आप जब भी किसी नए ऐप या वेबसाइट (आजकल कई वेबसाइट भी फेसबुक से लॉगइन के लिए कहा करती हैं) पर जाते होंगे तो ऑप्शन आता होगा- लॉगइन विद फेसबुक. आप फटाक से बिना सोचे समझे लॉगइन कर देते होंगे और यहीं उन्हें चाहिए होता है. अब जब भी ऐसा ऑप्शन आए तो पहले अक्षरशः पढ़ें उसके बाद ही लॉगइन करें. ज्यादा जरूरी न हो तो लॉगइन से बचें.

विदेश