हफ्ते के आखिरी दिन बाजार में हुई चौतरफा बिकवाली के चलते घरेलू शेयर बाजार दिन के निचले स्तर पर बंद हुआ है. शुक्रवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 509 अंक लुढ़ककर 33,176 के स्तर पर बंद हुआ है. एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 165 अंक की गिरावट के साथ 10,195 के स्तर पर क्लोज हुआ है.

इस गिरावट में निवेशकों के 1.67 लाख करोड़ रुपए डूब गए है. हालांकि, एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले हफ्ते 20-21 मार्च को होने वाली अमेरिकी सेंट्रल बैंक की बैठक से पहले दुनियाभर के बाजारों में ब्याज दरें बढ़ने को लेकर घबराहट है.

लेकिन निवशकों के पास इस गिरावट में खरीदारी करने का अच्छा मौका है, क्योंकि कई शेयर आकर्षक कीमतों पर मिल रहे है. अगली स्लाइड में जानिए निवेशकों के कितने करोड़ रुपये डूबे.

एक दिन में निवेशकों के 1.67 लाख करोड़ रुपए डूब गए

शुक्रवार के कारोबार में बाजार में गिरावट से एक दिन में निवेशकों के 1.67 लाख करोड़ रुपए डूब गए. गुरूवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,45,03,723.38 करोड़ रुपए था, जो 167220.38 करोड़ रुपए घटकर 1,43,36,503 करोड़ रुपए हो गया. इस लिहाज से निवेशकों को कुछ ही घंटों के दौरान 1.67 लाख करोड़ रुपयो का नुकसान हुआ.

अब क्या करें निवेशक-सेंट्रम वेल्थ मैनेजमेंट के कुंज बंसल का कहना है कि बाजार के बारे में कुछ भविष्वाणी करना बड़ा मुश्किल है. बाजार में काफी करेक्शन आ चुका है.

बाजार अब यहां से कहां जाएगा इसको समझने के लिए हमें शॉर्ट टर्म के पॉजिटिव और निगेटिव ट्रिगर्स पर नजर डालनी होगी. अभी हमें न तो बहुत ज्यादा पॉजिटिव ट्रिगर दिख रहे हैं और न ही बहुत निगेटिव ट्रिगर दिख रहे हैं.

अगले हफ्ते फेडरल रिजर्व की होनी है बैठक 

कुंज बंसल का कहना है बाजार में कंसोलीडेशन जारी रहने की संभावना है. इस बाजार में ट्रेडर्स के लिए कोई बी कॉल लेना मुश्किल होगा लेकिन मध्यम अवधि के निवेशकों को धीरे-धीरे अच्छे मौके मिलनें लगेंगे.

कुंज बंसल का कहना है कि करेक्शन के बाद कई क्वालिटी शेयर सस्ते में मिल रहे हैं. टेक्सटाइल सेक्टर में कई क्वालिटी मिडकैप शेयर अच्छे भाव पर मिल रहे हैं. मध्यम अवधि के नजरिए से निवेश के लिए इन शेयरों पर नजर रखें.

ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्टर संदीप जैन का कहना है कि निगेटिव ग्लोबल संकेतों के बाद हैवीवेट ओएनजीसी, एचडीएफसी, मारुति, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील में गिरावट से बाजार पर दबाव बना है. वहीं अगले हफ्ते फेडरल रिजर्व की बैठक होनी है.

ट्रेड वार का डर भी सता रहा है मार्केट को 

इस बैठक में फेड रेट में बढ़ोतरी पर फैसला हो सकता है. मार्केट को ट्रेड वार का डर भी सता रहा है. आईएमएफ प्रमुख ने ट्रेड वार को लेकर चेताते हुए कहा कि ट्रेड वार न केवल वैश्विक विकास को नुकसान पहुंचाएगा.

बैंकिंग, ऑटो, एफएमसीजी, आईटी, मेटल, फार्मा, कैपिटल गुड्स, पावर और ऑयल एंड गैस शेयरों में सबसे ज्यादा बिकवाली देखने को मिली है. बैंक निफ्टी 1.25 फीसदी गिरकर 24,500 के नीचे बंद हुआ.

निफ्टी के ऑटो इंडेक्स में 1.7 फीसदी, एफएमसीजी इंडेक्स में 1.25 फीसदी, आईटी इंडेक्स में 0.5 फीसदी, मेटल इंडेक्स में 2.4 फीसदी और फार्मा इंडेक्स में 1.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. बीएसई के कैपिटल गुड्स इंडेक्स में 1.7 फीसदी, पावर इंडेक्स में 1.7 फीसदी और ऑयल एंड गैस इंडेक्स में 2.1 फीसदी की कमजोरी आई.

विदेश