रायपुर । छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में शहीद हुए नौ सीआरपीएफ जवानों को गंवाने के बाद सरकार ने अधिकारियों के खिलाफ सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है। शनिवार को सबसे पहले इसकी गाज सीआरपीएफ कमांडेंट प्रशांत धर पर गिरी।

प्रशांत धर को 212 वीं बटालियन के कमांडेंट पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह हरमिंदर सिंह को अब 212 वीं बटालियन का नया कमांडेट नियुक्त किया गया है। इस कार्रवाई की पुष्टि सीआरपीएफ आईजी ने भी की है। प्रशांत धर को ग्रुप सेंटर में एटैच किया गया है।

गौरतलब है कि सुकमा में हाल ही में नक्सलियों ने लैंड माइन बिछाकर एंटी लैंड माइन व्हीकल को ही उड़ा दिया था, जिसमें नौ सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। लैंड माइन का विस्फोट इतना खतरनाक था कि उसकी आवाज तीन किलोमीटर दूर तक सुनाई दी थी और जिस वाहन में जवान सवार थे वह कई फीट दूर तक उछलकर गिरी था।

विदेश